शहर में होगी सभी घोड़ों की जांच

भोपाल में वेटरनरी विभाग सभी घोड़ों की जांच करेगा. शहर में निगम कमिश्नर ने अब विवाह, खेल गतिविधियों और चल समारोह के लिए भी घोड़े के उपयोग पर रोक लगा दी है. दअरसल ये रोक एक घोड़े में ग्लैंडर्स नामक बीमारी मिलने के बाद से लगाई गई है. ये घोड़ा काजी कैम्प का है. घोड़ों की जांच के बाद बीमार घोड़ों को अन्य घोड़ों से अलग रखा जाएगा. 

घोड़ों पर प्रतिबंध इसलिए भी लगाया है क्योंकि बीमार घोड़े के संपर्क में आने वाले लोगों को भी यही बीमारी हो जाती है. हालांकि अभी तक भारत में इस तरह के मरोजों की कोई जानकारी सामने नहीं आई है. जानकारी में ये भी सामने आया है कि इस बीमारी में घोड़े को बुखार के साथ शरीर पर चकते हो जाते हैं और निमोनिया के समान लक्षण सामने आते हैं. बीमारी के दौरान घोड़ों का खाना-पीना भी छूट जाता है.  

बीमारी का पता लगाने के लिए पशु चिकित्सा विभाग भोपाल के सभी घोड़ों के साथ गधों और खच्चरों के भी ब्लड सैंपल लेगा. पशुपालकों को जानकारी देने के लिए विभाग ने एक टोल फ्री नंबर भी जारी किया है. 1962 नंबर पर फोन करके पशुपालक बीमारी के बारे में विस्तृत जानकारी ले सकेंगे.

अमित शाह ने कार्यकर्ताओं को दिया जीत का मंत्र

आईएएस अधिकारियों ने अचल संपत्ति की जानकारी दी

मध्य प्रदेश में 23 आईएएस अफसरों का तबादला


 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -