मध्यप्रदेश में डेंगू और स्वाइन फ्लू पर अलर्ट, बुलाई आपात बैठक

भोपाल: मध्यप्रदेश में भी डेंगू ने पैर पसार लिया है, सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक सरकार डेंगू और स्वाइन फ्लू को लेकर सतर्क हो गई है. भोपाल में पिछले महीने 10 डेंगू पॉजिटिव मरीजों से तीन गुना ज्यादा यानी 31 पॉजिटिव मरीज इस माह मिले हैं। आठ नए मरीज भी मिले है, यह जानकारी जैसे ही शिवराज सिंह चौहान को मिली तो उन्होंने तुरंत ही स्वास्थ्य विभाग के अफसरों के साथ बैठक की। प्रदेशभर में डेंगू की रोकथाम और उपचार के लिए हर स्तर पर पुख्ता इंतजाम करने के निर्देश दिए। संक्रमण को काबू करने के लिए लार्वा और फीवर सर्वे के लिए टीमों की संख्या 26 से बढ़ाकर 56 कर दी है।

स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं की टीम ने 1000 से ज्यादा घरों में सर्वे किया, इनमें 150 घरों में डेंगू का लार्वा मिला है। बारिश थमते ही डेंगू का संक्रमण तेजी से फैलने की आशंका है। पिछले साल भी ऐसा ही हुआ था। सरकारी आकड़ो पर गौर करे तो प्रदेश में अगस्त 2014 में 27 मरीज मिले थे. इस साल के हालत भी कुछ ऐसे ही हैं। सितंबर के पहले 15 दिनों की रिपोर्ट सामने आते ही सरकार भी हरकत में आ गई है। गुरुवार से रोजाना 100 कॉलोनियों में लार्वीसाइड का छिड़काव किया जाएगा। डेंगू का लार्वा नष्ट करने के लिए संबंधित मकान मालिकों को दोबारा लार्वा मिलने पर 500 रुपए का जुर्माना लगाने की हिदायत दी गई है। व स्वास्थ्य अफसरों को हिदायत दी गई है की बुखार के मरीजों की खून की जांच की जाए।

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -