पटना में तबाही मचा रहा कोविड-19, मात्र एक सप्ताह में दुगने हुए 'कोरोना' मरीज

Jul 09 2020 10:50 AM
पटना में तबाही मचा रहा कोविड-19, मात्र एक सप्ताह में दुगने हुए 'कोरोना' मरीज

पटना जिले में कोरोना तबाही मचा रहा है. यहां पर मात्र 1 सप्ताह में कोरोना संक्रमण में जबदस्त इजाफा हुआ है. बीते 100 दिनों में पटना में जितना संक्रमण फैला था. उतना संक्रमण सिर्फ 1 सप्ताह में फैल गया है. पटना में 22 मार्च को पहला कोरोना पॉजीटीव मिला था. जिसके बाद पटना में 100 दिनों में यानी 30 जून तक 718 कोरोना संक्रमित मिले थे. जबकि मात्र एक सप्ताह में पटना में 30 जून से सात जुलाई तक 1402 कोरोना संक्रमित हो गए. इनमें एक्टिव केसों की संख्या 760 है, जबकि 12 लोगों की मौत हो चुकी है. 630 कोरोना मरीज ठीक होकर घर लौट चुके है.

इस मुस्लिम अभिनेता ने हिन्दू नाम से कमाई बेशुमार शोहरत, पहली फिल्म के मिले थे महज 3 रूपए

बीते समय में यानी 22 मार्च को दो संक्रमित एक साथ पटना में मिले थे. जिसमें एक महिला थी, जो दीघा की रहने वाली थी. जबकि दूसरा कोरोना संक्रमित बभनपुरा का रहने वाला युवा शख्स था. महिला नेपाल से घुमकर लौटी थी. वही, युवक ने स्कॉटलैंड से वापसी की थी. पटना में मार्च के समाप्त होने तक केवल 6 संक्रमित मिले थे. बाद में पटना में कोई संक्रमित नहीं मिला. लेकिन 15 अप्रैल तक कोरोना मरीजों की संख्या 7 हो गई. मगर 22 अप्रैल को एक साथ आठ संक्रमित मिले, जिनमें सात अकेले खाजपुरा के थे. अप्रैल के अंत तक यह संख्या 44 पहुंच गई. 

कोरोना संक्रमित था दूल्हा, दुल्हन समेत इतनों को किया गया क्वारंटाइन

पटना में कोरोना से पहला पॉजीटिव 10 मई को मौत का शिकार हुआ. बेलछी के कामगार ने  पीएमसीएच में कोरोना से अपनी जान गवाई थी. बस फिर क्या था. हर दिन कोरोना संक्रमित मिलने लगे और 15 मई तक जिले में कोरोना संक्रमण का आंकड़ा 100 को पार कर गया. लेकिन प्रशासन के लिए हैरत करने वाली बात तब हुई जब 17 मई को एक ही दिन 50 से ज्यादा यानी 58 संक्रमित मिले. जिसमें जवान और प्रवासी मजदूर शामिल थे. इस खबर के आने के बाद सरकार ने नियम और सख्त कर दिए. 

उज्जैन में धराया 'कानपूर का दरिंदा' विकास दुबे, महाकाल मंदिर में गार्ड ने पहचाना

जब पीएम ने भी की थी इस अभिनेता की तारीफ, अनाथालय पर काम कर माँ ने की परवरिश

चित्रकूट की खदानों में यौन शोषण, राहुल बोले- क्या यही हमारे सपनों का भारत ?