चित्रकूट की खदानों में यौन शोषण, राहुल बोले- क्या यही हमारे सपनों का भारत ?

चित्रकूट की खदानों में यौन शोषण, राहुल बोले- क्या यही हमारे सपनों का भारत ?

चित्रकूट: उत्तर प्रदेश के चित्रकूट की खदानों में हो रहे नाबालिग लड़कियों के यौन शोषण के मामले में कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने सरकार की कार्यप्रणाली पर सवाल खड़े किए हैं. राहुल गांधी ने अपने ट्विटर हैंडल से ट्वीट करते हुए कहा है कि 'अनियोजित लॉकडाउन में भूख से मरता परिवार, इन बच्चियों ने ज़िंदा रहने की ये भयावह कीमत चुकाई है. क्या ये ही हमारे सपनों का भारत है?'

आज तक की रिपोर्ट के अनुसार, चित्रकूट में पुलिस की नाक के नीचे बाकायदा महिलाओं और नाबालिग लड़कियों के यौन शोषण का नेटवर्क चल रहा था, किन्तु पुलिस धृतराष्ट्र बनकर बैठी थी. जब यह मामला मीडिया में उजागर हुआ तो चित्रकूट प्रशासन को भी अपनी ड्यूटी याद आई. जांच कमेटी की घोषणा तो कर दी, किन्तु जांच शुरू होने से पहले ही जिलाधिकारी शेषमणि नतीजे पर पहुंच गए और सारे आरोपों को खारिज करते हुए मीडिया रिपोर्ट पर ही सवाल खड़े करने लगे.

कोरोना महामारी के बीच चित्रकूट में अवैध खनन के गोरखधंधे में चंद रुपयों की मजदूरी पाने के लिए नाबालिग लड़कियों को देहव्यापार करने को विवश किया जा रहा है. ये गरीबी का ही अभिशाप है कि परिवार के लोग सबकुछ जानते हुए भी इस अत्याचार को अपनी किस्मत मानकर बर्दाश्त कर रहे हैं. 

वैज्ञानिकों का दावा, 'पहली वैक्सीन मौसमी बुखार के टीकों से अधिक नहीं होगी प्रभावी

बीते 24 घंटो में ओमान में मिले 1,210 नए मामले, संक्रमण से 9 लोगों ने गवाई जान

टिकटॉक को अमेरिका ने दिया बड़ा झटका, एक और देश में लग सकता है बैन