जयपुर इंटरनेशनल एयरपोर्ट भी अडानी ग्रुप का हुआ, कब्ज़े में आया सातवां हवाई अड्डा

जयपुर: अब जयपुर अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे का नियंत्रण भी अडानी समूह (Adani Group) को मिल गया है. अडानी समूह ने सोमवार से इस हवाई अड्डे का नियंत्रण एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया (AAI) से प्राप्त किया. सरकार ने अडानी समूह को 50 वर्षों के लिए यह एयरपोर्ट लीज पर दिया है. एयरपोर्ट के निदेशक जेएस बलहाराने सोमवार को अडानी जयपुर इंटरनेशनल लिमिटेड के चीफ एयरपोर्ट ऑफिसर विष्णु झा को हवाई अड्डे की प्रतीकात्मक चाबी सौंपी. 

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, बलहारा ने कहा कि अब जयपुर हवाई अड्डे का ऑपरेशन, मैनेजमेंट और डेवलपमेंट अडानी समूह द्वारा PPP मॉडल पर किया जाएगा. उल्लेखनीय है कि अडानी ग्रुप के पास छह हवाई अड्डे पहले से ही हैं और इसके साथ ही उसके नियंत्रण में अब सातवां हवाई अड्डा भी आ गया है. अरबपति कारोबारी गौतम अडानी के Adani Group ने गत जुलाई माह में ही मुंबई इंटरनेशनल एयरपोर्ट का टेकओवर पूरा किया है. अडानी ग्रुप पिछले कुछ वर्षों से एविएशन सेक्टर में अपनी पकड़ मजबूत कर रहा है. 

देश के प्रमुख एयरपोर्ट का मैनेजमेंट निजी हाथों में देने के लिए केन्द्र सरकार ने वर्ष 2019 में बिडिंग मंगवाई थी. तब अडानी समूह को अहमदाबाद, लखनऊ, जयपुर, मंगलुरू, गुवाहाटी और तिरुवनंतपुरम के एयरपोर्ट का मैनेजमेंट और ऑपरेशन देने का फैसला हुआ था. समूह की 100 फीसद हिस्सेदारी वाली सब्सिडियरी अडानी एयरपोर्ट होल्डिंग्स लिमिटेड (AAHL) ने GMR जैसे बड़े प्लेयर को पछाडते हुए 50 वर्षों के लिए इन एयरपोर्ट को ऑपरेट करने का टेंडर हासिल किया था.

रिकॉर्ड ऊंचाई पर कच्चे तेल का भाव, जानिए पेट्रोल-डीजल का नया दाम

दक्षिण केरल और कर्नाटक में 100 रुपये प्रति लीटर के पार पंहुचा डीजल

आम आदमी की जेब पर महंगाई की कैंची, लगातार 7वें दिन बढे पेट्रोल-डीजल के दाम

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -