यूट्यूब चैनल पर लाइव हुई महिला की नीलामी, शिवसेना सांसद ने लिखा आईटी मंत्री को पत्र

मुंबई: शिवसेना की राज्यसभा सांसद प्रियंका चतुर्वेदी इन दिनों लगातार अपना पक्ष रख रहीं हैं। हाल ही में उन्होंने एक यूट्यूब चैनल और एक ऐप के खिलाफ कठोर कार्रवाई करने के लिए मांग की है। जी दरअसल शिवसेना सांसद ने कहा है कि इस यू ट्यूब चैनल ने खास समाज की एक महिला की लाइव नीलामी का प्रसारण किया है। केवल यही नहीं बल्कि सांसद प्रियंका चतुर्वेदी का कहना है कि ऐप पर अनेक महिलाओं के फोटोज पोस्ट किए गए हैं। ये फोटोज महिलाओं के सोशल मीडिया हैंडल से उठाए गए हैं।

जी दरअसल यू ट्यूब पर महिलाओं की लाइव नीलामी दिखाने वाली इन घटनाओं पर ध्यान देने के लिए शिवसेना सांसद ने सूचना एवं तकनीकी मंत्री अश्विनी वैष्णव को पत्र भी लिखा है। इस पत्र में उन्होंने संबंधित यू ट्यूब चैनल और ऐप के खिलाफ कार्रवाई करने के लिए कहा है। जी दरअसल सांसद प्रियंका चतुर्वेदी ने पत्र में लिखा है, 'कुछ महीने पहले ‘लिबरल डॉज’ नाम के एक यूट्यूब चैनल में एक विशेष समुदाय की महिला की लाइव नीलामी को दिखाया गया है। लोग महिला को देखकर बोली लगा रहे थे, भद्दी-भद्दी टिप्पणियां कर रहे थे। ‘सुल्ली डील्स’ नाम के ऐप पर ऐसी कई महिलाओं की तस्वीरें पोस्ट हुई हैं।'

इसके अलावा मंत्री अश्विनी वैष्णव को लिखे पत्र में प्रियंका ने लिखा है, 'जिन महिलाओं की तस्वीरें इस तरह से अपलोड की जा रही हैं, उन्हें इसकी जानकारी भी नहीं है। Sulli Deals ऐप में जिन महिलाओं की तस्वीरेें अपलोड की गई हैं वे अलग-अलग पेशे से ताल्लुक रखती हैं। इनमें एक पेशा पत्रकारिता का भी है। महिलाओं की जानकारी के बिना उनकी तस्वीरें सोशल मीडिया पर आने के बाद उन्हें कई तरह की धमकियों और शर्मिंदगी का सामना करना पड़ता है।

इस ऐप का लक्ष्य एक खास समुदाय की महिलाओं को नीचा दिखाना है।' इसके अलावा प्रियंका चतुर्वेदी ने यह भी लिखा है कि, 'कुछ महिलाओं ने तो डर कर अपना सोशल मीडिया अकाउंट ही बंद कर दिया है। कुछ महिलाएं भविष्य में होने वाले अपमान से डरी और सहमी हुई हैं।' इन्ही सबको देखते हुए प्रियंका चतुर्वदी ने मंत्री अश्विनी वैष्णव से तुरंत और सख्त कार्रवाई करने की मांग की है।

सीरियल शूटिंग के दौरान अंकिता लोखंडे ने किया कुछ ऐसा की फैंस भी हुए इंप्रेस

15 वर्षीय नाबालिग के साथ बलात्कार करने के मामले में आरोपी को 20 साल की कैद

पीएम मोदी पर पोस्टर लगाने वालों के खिलाफ FIR रद्द करने की मांग को लेकर SC ने कही ये बात

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -