बेटे ने ही किया मां को आग के हवाले

चेन्नै: क्या कोई अपनी ही मां को आग के हवाले कर सकता है? लेकिन ऐसा हुआ है. एक कलियुगी पुत्र ने अपनी ही मां को आग के हवाले कर दिया. दरअसल मां पर उसने आरोप लगाया कि वह उसके लिए दुल्हन नहीं ला पाई. आरोपी एक कैब का चालक है. वह शराब पीने का आदी भी है. अरूबक्कम क्षेत्र की इस घटना से लोगों आश्चर्य  में  है।

पुलिस ने इस मामले में आरोपी पुत्र डी अमरनाथ प्रसाद (40) को पकड़ लिया है. दरअसल मृतका शशिकलां के तीन पुत्र थे, जिसमें से एक पुत्र की मौत 5 वर्ष पूर्व ही हो गई. एक अन्य पुत्र अपने परिवार के साथ रहा करता था. शशिकलां अपने बेटे अमरनाथ और बहन के साथ रहती थी. शनिवार को अमरनाथ ने मां से झगड़ा किया, और फिर तड़के 5.30 बजे पड़ोसियों ने शशिकलां के चिल्लाने की आवाज सुनी वह अपनी मदद के लिए पुकार रही थी. ऐसे में आसपास के लोग उस ओर दौड़े।

दरअसल उसके पुत्र ने प्लास्टिक की कुर्सी से उसे बांध दिया था. लोगों ने उसे छुड़वाकर एंबुलेंस की सहायता से उसे चिकित्सालय पहुंचाया जब उसे अस्पताल ले जाया गया तब तक वह 70 प्रतिशत जल चुकी थी. रविवार को उसने दम तोड़ दिया। 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -