संतान के रूप में पाना चाहते है लड़का या लड़की तो पढ़ लें यह खबर

जब इंसान कि शादी होती है तो कुछ समय बाद दांपत्य जीवन में संतान प्राप्ति के लिए उत्सुकता भी देखी जा सकती हैं। हर इंसान शादी होने के बाद मन में यह चाह रखता है कि उसे पहले लड़की चाहिए या फिर लड़का। लेकिन इसका जवाब किसी के पास नही होता कि आपको पहले क्या हो सकता है? अगर आपके भी मन में कुछ ऐसे ही सवाल है तो यहां पर आज हम आपसे इसी विषय पर चर्चा करने वाले हैं जिसमें हम जानेंगे कि किस प्रकार से आप अपनी इच्छानुसार लड़का या फिर लड़की को संतान के रूप में पा सकते हैं। संतान प्राप्ति की इच्छा कामसूत्र में बड़े ही विधि-विधान से बतायी गई है जिसके कुछ महत्वपूर्ण भाग के बारे में हम आपको यहां पर जानकारी दे रहे हैं जिसे पढ़कर आप भी अपनी इच्छा अनुसार संतान प्राप्त कर सकते हैं।

पुत्र के लिए- कामसूत्र के अनुसार इसके लिए स्त्री को हमेशा पुरुष के बाएं तरफ सोना चाहिए। कुछ देर बाएं करवट लेटने से दायां स्वर और दाहिनी करवट लेटने से बायां स्वर चालू हो जाता है। ऐसे में दाईं ओर लेटने से पुरुष का दायां स्वर चलने लगेगा और बाईं ओर लेटी हुई स्त्री का बायां स्वर चलने लगता है। यदि ऐसा संभव हुआ तो तभी संभोग करना चाहिए। इस स्थिति में अगर गर्भाधान हो गया तो अवश्य ही पुत्र रत्न की प्राप्ति होती है। साथ ही इसके विपरीत नियमों को अपनाने पर संतान के रूप में कन्या की प्राप्ति होती है।

कन्या के लिए- कामसूत्र के अनुसार कन्या संतान के लिए स्त्री को हमेशा पुरुष के दाहिनी ओर सोना चाहिए। इस स्थिति में स्त्री का दाहिना स्वर चलने लगेगा और पुरुष का बायां स्वर चलने लगेगा। इसके बाद संभोग करने पर यदि गर्भाधान होता है, तो निश्चित ही आपको एक सुयोग्य और गुणवती कन्या संतान प्राप्त होगी।

 

महात्मा बुद्ध के साथ हुई थी ऐसी घटना जो करती है शर्मसार

आपकी सेहत बनाने के साथ परेशानी का भी अंत करती है उड़द कि दाल

शहद से ऐसे करें अपने जीवन कि सारी मुसिबतों का खत्म

तो सदा बनी रहेगी आप पर भगवान की कृपा दृष्टि

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -