बैंक कर्मचारियों के लिए काल बना कोरोना, गुजरात में अब तक 30 की मौत

अहमदाबाद: बैंकों की एक प्रमुख कर्मचारी यूनियन ने दावा किया है कि गुजरात में अब तक 15,000 बैंक कर्मचारी कोरोना वायरस की चपेट में आ चुके हैं। वहीं दूसरी लहर के दौरान बीते एक महीने में 30 कर्मचारियों की मौत इस घातक वायरस के कारण हो गई है। मौजूदा स्थिति को देखते हुए महा गुजरात बैंक कर्मचारी संघ (MGBEA) ने नकदी निकासी के घंटों में कटौती, अतिरिक्त अवकाश दिये जाने तथा काम के घंटों में छूट की मांग की है।

ऑल इंडिया बैंक एम्पलाइज एसोसिएशन से संबद्ध यूनियन ने गुजरात के सीएम विजय रूपाणी को चिठ्ठी लिखकर इस मामले में हस्तक्षेप करने की अपील की है। बता दें कि सीएम रूपाणी राज्यस्तरीय बैंकिंग समिति (SLBC) के चेयरमैन भी हैं। MGBEA ने कहा है कि गुजरात में लगभग 9,900 बैंक शाखाओं में 50,000 बैंक कर्मचारी कार्यरत हैं। पत्र में कहा गया है कि इस तरह की रिपोर्ट्स के बाद कि कोरोना वायरस हवा से फैलता है, बैंक कर्मचारी शाखा परिसर में घुसने या ग्राहकों से बातचीत करने में भी डरने लगे हैं।

यूनियन ने कहा है कि पिछले एक महीने के दौरान 30 बैंक कर्मियों की संक्रमण के कारण मौत हुई है। कई शाखाओं में तो सभी कर्मचारी संक्रमित हो गए हैं। यूनियन ने रूपाणी से कोविड की दूसरी लहर को देखते हुए बैंक कर्मचारियों को कुछ छूट देने की मांग की है।

ऑस्ट्रेलिया की सीमाओं को जल्द नहीं खोलेंगे प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन

निर्मला सीतारमण ने कहा-" जब भारत को हर दूसरे...."

स्पाइसजेट और इंडिगो के बाद अब एयरएशिया भी यात्रा की दिनांक का करेगी पुनर्निर्धारण

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -