15 अगस्त को है जया एकादशी, जानिए पूजा विधि

Aug 13 2020 04:00 PM
15 अगस्त को है जया एकादशी, जानिए पूजा विधि

आप सभी को बता दें कि साल 2020 में भाद्रपद महीने की अजा/जया एकादशी आने वाली है. जी दरअसल इस बार यह एकादशी शनिवार, यानी 15 अगस्त 2020 को मनाई जाने वाली है. वहीं अगर शास्त्रों को माना जाए तो शास्त्रों के अनुसार एकादशी व्रत का काफी महत्‍व बताया गया है. जी दरअसल भाद्रपद महीने में आने वाली अजा या जया एकादशी का व्रत रखने से भगवान श्रीहरि विष्णु के साथ माता लक्ष्मी का भी आशीर्वाद मिलता है.

इसके अलावा मन की हर मनोकामना पूरी हो जाती है. जी दरअसल भाद्रपद कृष्ण पक्ष में आने वाली इस एकादशी को समस्त पापों का नाश करने वाली एकादशी माना जाता है. इस एकादशी को अश्वमेध यज्ञ का फल देने वाली एकादशी भी कहा जाता है. जी दरअसल इस एकादशी के दिन व्रत-उपवास रखकर और रात्रि जागरण करके श्रीहरि विष्णुजी का पूजन-अर्चन तथा ध्यान करना चाहिए इससे बड़े लाभ होते हैं.

पूजा विधि - इस दिन सबसे पहले घर के मंदिर में एक चौकी में लाल कपड़ा बिछाकर भगवान विष्‍णु की प्रतिमा स्‍थापित करें. अब इसके बाद एक लौटे में गंगाजल लेकर उसमें तिल, रोली और अक्षत मिलएं. अब जल की कुछ बूंदें लेकर चारों ओर छिड़कें. इसके बाद उस लौटे के साथ घट स्‍थापना करें. अब भगवान विष्‍णु को धूप-दीप दिखाकर उन्‍हें पुष्‍प अर्पित करें. इसके बाद घी के दीपक से विष्‍णु की आरती उतारते हुए विष्‍णु सहस्‍नाम का पाठ करें. अब श्री हरि विष्‍णु को तुलसी दल का प्रयोग करके तिल का भोग लगाएं. इसके बाद तिल का दान करें क्योंकि यह शुभ होता है. इसके अलावा शाम के समय भगवान विष्‍णु की पूजा कर फलाहार ग्रहण करें.

आरम्भ हो चुका है भाद्रपद का महीना, भूल से भी ना करें यह काम

ऐसे लोगों को भूल से भी अपने घर में नहीं लगना चाहिए तुलसी का पौधा

आरम्भ हो चुका है भाद्रपद का महीना, भूल से भी ना करें यह काम