पिछले सात दिनों से हड़ताल पर बैठे Zomato के सैकड़ों कार्यकर्ता, कंपनी के सामने रखी ये शर्त

Aug 11 2019 03:22 PM
पिछले सात दिनों से हड़ताल पर बैठे Zomato के सैकड़ों कार्यकर्ता, कंपनी के सामने रखी ये शर्त

हावड़ा: धर्म और मजहब के नाम पर जहां दो समुदाय के लोग आपसी सौहार्द खो रहे हैं, वहीं हावड़ा में जोमेटो के सैकड़ों डिलीवरी मैन ने सांप्रदायिक सौहार्द को कायम रखने के लिए काम बंद कर अनिश्चितकालीन हड़ताल पर बैठने का ऐलान कर दिया है. उनकी मांग हैं कि वह किसी भी हाल में बीफ और पोक की डिलीवरी करने नहीं जाएंगे.

प्रदर्शनकारियों ने बताया है कि उन्हें बीफ और पोक डिलीवर करने के लिए कहा जाता है. इंकार करने पर उन्हें धमकी दी जाती है कि किसी भी हाल में ऑर्डर कैंसिल नहीं किया जायेगा. उनसे जर्बदस्ती काम कराया जा रहा है, जो कि उन्हें स्वीकार नहीं है. बीते सात दिनों से सभी कर्मचारी हड़ताल पर हैं. जोमेटो के एक डिलीवरी बॉय बजरंग नाथ वर्मा ने कहा कि जिस बैग में खाना लेकर हम लोग पहुंचने जाते हैं, वो बैग लेकर ही हमें घर जाना पड़ता है.

वहीं, मोहसिन अख्तर ने कहा कि कुछ भी हो जाए, हम लोग पोक की डिलीवरी करने नहीं जाएंगे. डिलीवरी मैन का आरोप है कि डिलीवरी न करने पर उनके कुछ साथियों के खिलाफ कंपनी ने गोलाबाड़ी थाने में शिकायत की है. उन सभी को धमकी भी दी जा रही हैं. डिलीवरी बॉय का आरोप है कि कंपनी की तरफ से परिचय पत्र भी नहीं दिया गया है. पीएफ और मेडिकल सुविधाएं भी नहीं दी जाती है. महीने के अंत में न्यूनतम वेतन भी सही से नहीं मिलता है.

मुरादाबाद से गिरफ्त में आई लेडी डॉन, यूपी में चलाती थी नशे का काला कारोबार

पेट्रोल और डीजल के मूल्यों में आई कमी, जानें नई कीमत

भारत से बिजनेस खत्म करने पर पाकिस्तान को ही होगा नुकसान