इस तरह बचे फाइनेंशियल फ्रॉड का शिकार होने से...

क्या आपको भी कोरोना टेस्ट के नाम फोन कॉल आ रहे हैं। लॉटरी में लाखों रुपए जीतने के कॉल आ रहे हैं। क्रेडिट कार्ड पर लोन के लिए ऑफर आ रहे हैं। यदि हां तो सतर्क हो जाइए। इसी प्रकार के कई फोन कॉल से व्यक्तियों से ठगी की जा रही है। बहुत सारे व्यक्ति मोबाइल फोन अपने पासवर्ड सेव रखते हैं। फोन सूची में ही पिन भी सेव कर लेते हैं। इस प्रकार की त्रुटि यदि आप भी करते हैं तो सावधान रहिए। नहीं तो आपका भी बैंक अकाउंट साफ हो सकता है। यदि आपके साथ भी इस प्रकार की दुर्घटना हो जाएं तो जानिए आपको क्या करना चाहिए।

बढ़ता ऑनलाइन फ्रॉड:-
यूनिसिस सिक्योरिटी इंडेक्स 2020 रिपोर्ट के अनुसार, बैंक कार्ड फ्रॉड के मामले सबसे अधिक आ रहे हैं। कार्ड डिटेल चोरी के मामले तथा ऑनलाइन शॉपिंग फ्रॉड के मामले बढ़ रहे हैं।

पासवर्ड सेव न करें:-
इस प्रकार के फ्रॉड से बचने को लिए मोबाइल पर पासवर्ड सेव न करें। मेल पर भी पासवर्ड सेव करनें से बचें। फोन सूची में कार्ड पिन बिलकुल भी सेव न करें। अपने डेबिट कार्ड का पिन किसी को न बताएं।

फ्रॉड का हथकंडे:- 
इस प्रकार की धोखाधड़ी करने वाले कोरोना टेस्ट के फर्जी कॉल भेजते हैं। इस प्रकार के कॉल फर्जी कस्टमर केयर से आते हैं। कैश बैक तथा मुफ्त रिचार्ज के नाम पर ये कॉल आते हैं। इस प्रकार के फर्जीवाड़े से बचने के लिए कभी अनजान लिंक पर क्लिक न करें। फर्जी मेल तथा SMS से सावधान रहें। ऑफर के चक्कर में डिटेल साझा न करें। CVV, OTP किभी न बताएं। ATM पिन शेयर न करें।

सोशल मीडिया पर सावधान:- 
सोशल मीडिया पर अनजान रिक्वेस्ट तत्काल एक्सेप्ट न करें। पूरा इंफो चेक करके ही फ्रेंड बनें। शंका होने पर तुरंत ब्लॉक करें। फेक कस्टमर केयर से सावधान रहें। आधिकारिक पोर्टल से ही नंबर लें। कोई निजी जानकारी न दें। लास्ट ट्रांजैक्शन का विवरण न दें। नंबर को ऑनलाइन चेक करें।

लोकल सर्किल्स सर्वे की रिपोर्ट:- 
गौरतलब है कि हाल ही में देश में हुए एक सर्वे से ये बात निकल आई है कि ज्यादातर मामलों में हम स्वयं ही अपने साथ होने वाले फ्रॉड को न्योता देते हैं। सोर्स लोकल सर्किल्स सर्वे की एक रिपोर्ट के अनुसार, 29% व्यक्ति ATM PIN परिवार को बताते हैं। वहीं, 4% व्यक्ति ATM PIN स्टाफ को बताते हैं। 33% व्यक्ति बैंक अकाउंट, डेबिट/क्रेडिट कार्ड डिटेल, ATM पासवर्ड मोबाइल में रखते हैं। 11% व्यक्ति ATM PIN,कार्ड नंबर, पासवर्ड मोबाइल कॉन्टैक्ट सूची में रखते हैं। आप ये सब करने से बचें तथा सुरक्षित रहें।

पेट्रोल-डीजल की कीमतों में 10 दिनों से नहीं हुआ कोई बदलाव, जानिए आज का भाव

1 अक्टूबर से इनवैलिड हो जाएंगी इन 3 बैंकों की चेकबुक, कहीं इनमे आपका खाता भी तो नहीं ?

5 ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था बनने के लिए भारत को 5 साल में जुटाने होंगे इतने डॉलर

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -