गिरफ्तार हुई बांग्लादेश के सांसद को हनीट्रैप में फंसाने वाली महिला, हुए कई चौंकाने वाले खुलासे

गिरफ्तार हुई बांग्लादेश के सांसद को हनीट्रैप में फंसाने वाली महिला, हुए कई चौंकाने वाले खुलासे
Share:

कोलकाता: कोलकाता में बांग्लादेश के सांसद अनवारुल अजीम अनार के क़त्ल को लेकर प्रतिदिन नए-नए खुलासे हो रहे हैं. सांसद के क़त्ल में उनके बचपन के दोस्त के षड्यंत्र से लेकर 5 करोड़ की सुपारी तथा हनीट्रैप तक का एंगल सामने आ चुका है. अब खबर है कि बांग्लादेश पुलिस ने एक महिला को गिरफ्त में लिया है. बताया जा रहा है कि हो सकता है कि इसी महिला के माध्यम से सांसद को हनीट्रैप किया गया था. 

वही इस महिला का नाम शिलांती रहमान (Shilanti Rahman) है, जो बांग्लादेश की नागरिक है. बांग्लादेश पुलिस के सूत्रों के अनुसार, शिलांती इस हत्याकांड के मास्टरमाइंड अकतारुजमां शाहीन की प्रेमिका है. जिस वक़्त सांसद अनवारुल का क़त्ल किया गया. वह कोलकाता में ही थी एवं 15 मई को इस हत्याकांड के मुख्य संदिग्ध हत्यारे अमानुल्लाह अमान के साथ ढाका लौट गई थी. पुलिस सूत्रों के अनुसार, अकतारुजमां ने सांसद को बांग्लादेश से कोलकाता बुलाने के लिए शिलांती का हनीट्रैप के तौर पर उपयोग किया था. इस मामले में बांग्लादेश में गिरफ्तार अपराधियों के बयानों के आधार पर शिलांती को डिटेन किया गया है.

पश्चिम बंगाल CID ने बांग्लादेश के सांसद की हत्या मामले में पहली गिरफ्तारी की है. CID सूत्रों के अनुसार, जिहाद हवलदार नाम के एक व्यक्ति को पश्चिम बंगाल CID ने गिरफ्तार किया है. जिहाद पेशेवर कसाई है. उसे हत्या के मास्टरमांइड अकतारुजमां ने इस काम को अंजाम देने के लिए विशेष रूप से मुंबई से बुलाया था. सूत्रों के अनुसार, जिहाद को 2 महीने पहले इस काम के लिए हायर किया गया था तथा मुंबई से कोलकाता बुलाया गया था. जिहाद को 5 करोड़ की सुपारी का एक हिस्सा भी दिया गया था. वह कोलकाता हवाईअड्डे के पास एक होटल में ठहरा हुआ था. बता दें कि आरभिंक तहकीकात में पता चला था कि सांसद अनवारुल के करीबी दोस्त ने इस हत्या के लिए 5 करोड़ की सुपारी दी थी. सांसद का ये दोस्त अमेरिकी नागरिक है. 

जांच के अनुसार, बांग्लादेशी सांसद अनवारुल के बचपन के दोस्त अकतारुजमां शाहीन ने कारोबारी रंजिश के चलते सांसद की हत्या की योजना बनाई थी. शाहीन झेनईदह (Jhenaidah) का रहने वाला है. उसके पास अमेरिका की भी नागरिकता है. उसका भाई झेनईदह के कोटचांदपुर म्युनिसिपैलिटी का मेयर है. बता दें कि अनवारुल झेनईदह से ही सांसद थे. शाहीन 30 अप्रैल को अमान एवं उसकी एक महिला मित्र सिलिस्टा रहमान के साथ कोलकाता गया था. इन्होंने कोलकाता के सांजिबा गार्डन में एक डुप्लेक्स किराये पर लिया. शाहीन के 2 सहयोगी सियाम एवं जिहाद पहले से ही कोलकाता में थे. इन्होंने साथ मिलकर हत्या का षड्यंत्र रचा. शाहीन 10 मई को बांग्लादेश लौट गया. उसने हत्या की पूरी जिम्मेदारी अमान पर सौंप दी. योजना के अनुसार, अमान ने बांग्लादेश से दो और हिटमैन कोलकाता बुलाए. फैजल शाजी एवं मुस्ताफिज 11 मई कोलकाता गए और इस षड्यंत्र में सम्मिलित हो गए.

कैसे की गई सांसद की हत्या?
इंटेलिजेंस अफसरों के अनुसार, अमान से प्राप्त हुई जानकारी के मुताबिक, शाहीन को पहले से ही पता था कि सांसद 12 मई को कोलकाता जाएंगे. उसने अमान से हत्या की सभी तैयारियां करने को कहा. इन्होंने हत्या के लिए कुछ तेजधार हथियार भी खरीद लिए थे. सांसद अनवारुल 12 मई को दर्शन बॉर्डर के माध्यम से कोलकाता गए. वह पहले दिन अपने दोस्त गोपाल के घर पर रुके. इस बीच हत्यारे ने उन्हें 13 मई को अपने फ्लैट पर बुलाया. अनवारुल 13 मई को संजीबा गार्डन में अमान के अपार्टमेंट में गया. इस बीच अमान ने अपने साथियों फैजल, मुस्ताफिज, सियाम एवं जिहाद के साथ मिलकर उन्हें दबोच लिया. उन्होंने अनवारुल से शाहीन को पैसे लौटाने को भी कहा. इसी गहमागहमी में उन्होंने तकिये से मुंह दबाकर अनवारुल का क़त्ल कर दिया. हत्या के पश्चात् अमान ने इसकी जानकारी शाहीन को दी.

इंटेलिजेंस अफसरों ने अमान से प्राप्त हुई जानकारी के आधार पर बताया कि शाहीन के कहने के मुताबिक ही अनवारुल के शव के टुकड़े किए गए जिससे उन्हें सरलता से ठिकाने लगाया जा सके. इसके लिए फ्लैट के पास के एक शॉपिंग मॉल से दो बड़े ट्रॉली बैग और पॉलिथिन खरीदे गए. इन पॉलिथिन बैग और ट्रॉली में शव के टुकड़ों को रखा गया. घटना की रात शव के टुकड़ों को फ्लैट में ही रखा गया. इस बीच हत्यारे बाहर से ब्लीचिंग पाउडर लेकर आए तथा उससे फ्लैट में खून के धब्बों को साफ किया. सूत्रों के अनुसार, कोलकाता पुलिस के पास उस फ्लैट एवं आसपास की बिल्डिंग की CCTV फुटेज है. इन फुटेज से पता चलता है कि अमान एवं उसके सहयोगी ट्रॉली बैग और फ्लैट के बाहर रखे सांसद अनवारुल के जूते लेकर जा रहे हैं. इसके अतिरिक्त CCTV फुटेज से ही पता चला कि शाहीन की महिला मित्र बाहर से पॉलिथिन बैग एवं ब्लीचिंग पाउडर लेकर आ रही है.

हत्या के पश्चात् अमान के बोलने पर उसके दो सहयोगी सांसद अनवारुल के दोनों फोन लेकर अलग-अलग दिशाओं में गए ताकि जांचकर्ताओं को सांसद की लोकेशन को लेकर भ्रमित किया जा सके. बाद में 17 मई को फैजल और मुस्ताफिज बांग्लादेश लौट गए. सूत्रों के अनुसार, अकतारुजमां शाहीन सांसद की हत्या की योजना बनाने के पश्चात् 10 मई को ढाका लौट गया था. जब सांसद के लापता होने की खबर देशभर में ख़बरों में आ गई तो वह 18 मई को भारत से होता हुआ नेपाल गया. वह 21 मई को नेपाल से दुबई के लिए रवाना हुआ. वह 22 मई को दुबई से अमेरिका चला गया. अफसरों का कहना है कि सांसद अनवारुल की हत्या के पीछे गोल्ड स्मगलिंग के पैसे के बंटवारे से जुड़ा विवाद है. अकतारुजमां शाहीन गोल्ड स्मगलर है तथा बताया जा रहा है कि सांसद अनवारुल पर भी गोल्ड स्मगलिंग के आरोप लगे हैं. 

राजस्थान में जानलेवा बनी लू..! 12 लोगों की मौत, रेड अलर्ट जारी

खाल उतारी, मांस का कीमा बनाकर थैलियों में भर दिया..! घुसपैठिए जिहाद ने बेहद बेरहमी से की बांग्लादेशी सांसद अनवारुल की हत्या

Cyclone Remal:बंगाल की तरफ बढ़ रहा चक्रवाती तूफ़ान, मौसम विभाग ने जारी किया अलर्ट

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -