क्यों भारत में नहीं डेवलप होते TikTok जैसे ऐप

क्यों भारत में नहीं डेवलप होते TikTok जैसे ऐप

TikTok जैसे ऐप्स डिवेलप भारत में क्यों नहीं किए जा रहे हैं, जिन्हें दुनिया हाथोंहाथ लपक ले? चीन की बाइटडांस ने शॉर्ट वीडियो बनाने की सहूलियत देने वाला ऐप टिपटॉक डिवेलप किया और सितंबर 2018 में लॉन्च के बाद नौ महीनों में ही भारत में इसके 20 करोड़ से ज्यादा यूजर हो गए. इसका मंथली एक्टिव यूजर बेस करीब 12 करोड़ का है. बाइटडांस के ही हेलो और विगो ऐप्स के भारत में 2.5-3 करोड़ यूजर हैं. ग्लोबल लेवल पर बाइटडांस का यूजर बेस का है.

OnePlus 7 की परफॉर्मेंस है कितनी दमदार, जानिए 

शेयरचैट सबसे करीब पहुंचने वाला भारतीय ऐप है. इस यूजर जेनरेटेड कॉन्टेंट बेस्ड ऐप का एक्टिव यूजर बेस जनवरी 2019 में करीब चार करोड़ था.टेक्नॉलजी में निवेश करने वालों, इंडस्ट्री पर नजर रखने वालों और उद्यमियों से ईटी ने बात की. उन्होंने ऐसे लोकप्रिय ऐप भारत में डिवेलप नहीं हो पाने की तीन अहम वजहें बताईं.सबसे पहला कारण है वायरल हो सकने वाले ऐप पर दांव लगाने के लिए बहुत कैश चाहिए. 72 अरब डॉलर की बाइटडांस की थैली भारी है. फेसबुक ऐसा ही वॉट्सऐप के लिए करता है.

OnePlus 7 Series के लॉन्च इवेंट में हासिल की ये उपलब्धि

अपने बयान मे  स्क्रिपबॉक्स के सीईओ अशोक कुमार ने कहा, 'उद्यमी अब भी अपने आइडिया पर काम करने के लिए अमेरिकी/विदेशी फंडिंग पर निर्भर हैं और काम का मुख्य आधार यह रहता है कि जो वहां चल गया, यहां भी चल जाएगा. बड़े पैमाने पर लोगों के अपनाने लायक आइडिया पेश करने में पैसे की एक बड़ी अड़चन रहती है.'पीडब्ल्यूसी इंडिया के लीडर (इनोवेशन एंड स्टार्टअप्स) मुरली तलासिला ने कहा, 'बी2सी बिजनेस में बहुत पैसा लगता है. लिहाजा बड़े वेंचर कैपिटल की जरूरत पड़ती है. भारतीय टेक कंपनियों में इनवेस्टमेंट बहुत ही परंपरागत स्रोतों से आ रहा है और उनमें बड़ा रिस्क लेने की क्षमता नहीं है.'भारत में एंटरटेनमेंट या यूजर जेनरेटेड कॉन्टेंट पर फोकस करने वाले डिजिटल ऐप्स को बड़े पैमाने पर पेश करने का फायदा नहीं है। ऐसे ऐप्स के मालिक विज्ञापन के जरिए पैसा बनाते हैं.आंकड़ों की बात करें तो ग्रुपएम के अनुसार भारत में विज्ञापन का बाजार करीब 10.5 अरब डॉलर का है और इसका 30% से भी छोटा हिस्सा डिजिटल ऐड पर खर्च होता है. ईमार्केटर के अनुसार, चीन में ऐड मार्केट 80 अरब डॉलर का है. 2019 मे अकेले डिजिटल ऐड मार्केट ही 130 अरब डॉलर होने का अनुमान अमेरिका को लेकर लगाया जा रहा है.

अगर ऑनलाइन ठगी से बचना है तो, अपनाएं ये तरीके

कौन सी दूरसंचार कंपनी का नेटवर्क है जबरदस्त, अब ऐसे जान पाएंगे

TAGG PowerBass 700 है शानदार बैटरी वाला दमदार हैडफ़ोन