हरियाणा : इस दिन तक राज्य में नहीं थमने वाली बारिश

मौसम महकमें के मुताबिक हरियाणा में 18 से 21 अगस्त तक बरसात के आसार है. अधिकतम तापमान 4 डिग्री तक कम हो सकता है. यह 30 डिग्री से नीचे आ सकता है. राज्य के कई शहरों में सोमवार को बरसात हुई. गोहाना और पानीपत जिलों में 40-40 मिलीमीटर बरसात हुई. सोनीपत शहरों में औसतन 25 और पानीपत में 19 मिमी. बरसात रिकॉर्ड की गई.

राजस्थान में कोरोना विस्फोट, हर दिन मिल रहे 1 हजार से अधिक संक्रमित

ज्यादा बारिश होने से सीवर और नालों से जल की निकासी बाधित हो गई. नाले भी ओवरफ्लो होने से मार्ग पर जलभराव प्रारंभ हो गया. जलभराव होने से वाहन चालकों की दिक्कत बढ़ गई. जिले की ज्यादातर मुख्य सड़कों पर एक से दो फीट तक पानी भरने से वाहन चालकों को काफी परेशानी हुई.कृषि विभाग के अनुसार धान की फसल के लिए ये बरसात बहुत फायदेमंद है, क्योंकि धान की फसल में जितना पानी लगाया जाए, उतना ही फायदेमंद होता है. निरंतर हो रही बारिश से किसानों को फसल के उत्पादन में भी असर दिखेगा.

शरद पूर्णिमा : प्रेम में सफलता, बेहतर स्वास्थ के लिए करें ये उपाय

बता दे कि सोमवार को जिले भर में 8 एमएम बरसात दर्ज की गई. सबसे अधिक बरसात लाडवा में हुई. मगर पिहोवा और इस्माईलाबाद में एक भी बूंद नहीं बरसी. वहीं बरसात होने के चलते मौसम खुशगवार हो गया. दिन की प्रारंभ ही बरसात के साथ हुई, जिससे अधिकतम तापमान में तीन डिग्री सेल्सियस तक गिरावट हुई. इससे लोगों को गर्मी से राहत मिली. वही, सोमवार को न्यूनतम तापमान 28 डिग्री सेल्सियस और अधिकतम तापमान 32 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया. प्रात होते ही आसमान पर काले मेघ छा गए और तेज बरसात प्रारंभ हो गई. तेज बरसात की वजह से कई निचले इलाकों में जलभराव हो गया, जबकि बूंदाबांदी साढ़े 10 बजे तक चलती रही.

शरद पूर्णिमा : चन्द्रमा की किरणों के मध्य क्यों रखी जाती है खीर, जानिए कारण ?

देश में मास्क से आज़ादी की मुहीम शुरू, युवाओं का 'मास्क' जलाते हुए वीडियो वायरल

राजस्थान : जयपुर के बाद कई जिलों में जलमग्न होने का खतरा बढ़ा

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -