रमज़ान में सीजफायर और पीएम को कोसते व्यक्ति का वीडियों वायरल

May 24 2018 05:26 PM

पाकिस्तान की ओर से सीमा पर जारी लगातार गोलीबारी का आज दसवां दिन है. पाकिस्तान की ओर सीमा पर सीज़फायर उल्लंघन और जवानों के साथ बेकसूरों की जान से खेलने का सिलसिला थमा नहीं है. इस बीच एक वीडियों सोशल मिडिया पर वायरल हो रहा है जिसमे एक शख्स सरकार से जम्मू कश्मीर की सीएम महबूबा मुफ़्ती की उस मांग को मान लेने पर आपत्ति जता रहा है, जिसमे महबूबा ने रमज़ान में सीज फायर की गुजारिश की थी. वीडियों में एक लगभग 45 साल का व्यक्ति इसे मुफ़्ती की चाल बता रहा है और सीज फायर को पीएम मोदी और गृहमंत्रालय की गलती बता रहा है.

ये व्यक्ति कहता है, ''नमस्कार दोस्तों जय हिन्द. अपने पीछे एक पुराने युद्ध टेंक को पैटर्न टेंक बताते हुए कहता हैं यह टैंक 1971 के वार में अमरीका की ओर से पाकिस्तान को दिया गया था. मगर भारतीय सेना ने इसे बर्बाद कर पाकिस्तान के 90 हजार सैनिकों को बंदी बनाया था. मगर उस समय भी सरकार ने पाक की सारी जमीने भी लौटा दी और उसके सैनिक भी वापस दे दिए. जिससे पाकिस्तान फिर खड़ा हो गया. उस समय भी राजनेताओं ने सैनिकों की जीत को समझौते की भेट चढ़ा दिया . व्यक्ति आगे कहता है, हाल ही में भी CRPF, सेना, पुलिस और SFB  ने ऑपरेशन ऑल आउट के जरिये जो खौफ पैदा किया उसे रमज़ान में सीज फायर का वादा निभा कर ख़त्म कर रही है. सरकार पाकिस्तान और आतंकियों को फिर से खड़ा होने का मौका दे रही है.

व्यक्ति कहता है कि सेना को सिर्फ जवाबी हमले का हक़ देने वाले  सिर्फ 10 सेकंड से भी कम समय में 30 गोलियों और 9 फिट तक मार कर फेंक देने वाले ग्रेनेट का सामना करे और फिर जवाबी कार्यवाई करके दिखाए. सरकार अगर पाक को रमज़ान में संसाधन जुटाने का मौका दे रही है तो उसे जवानों को कुर्बान करने का हक़ नहीं है. वीडियों के अंत में इसे ज्यादा से ज्यादा शेयर करने कि अपील की गई है.      

 

जम्मू कश्मीर: फायरिंग में 7 पाकिस्तानी रेंजर ढेर, 2 जवान शहीद

अब आतंकियों को जिन्दा पकड़ेगी सेना, ये है वजह

पाक ने किया सीमा से सटे इलाक़े ख़ाली करने का एलान