यूपी प्रशासन के निशाने पर अतीक अहमद के गुर्गे, सरकारी जमीन कब्जाने के मामले में दर्ज हुआ केस

प्रयागराज: यूपी सीएम योगी के ‘माफिया मुक्त यूपी’ के फरमान पर प्रशासन पूरी तरह से काम कर रहा है. यही कारण है कि मुख्तार अंसारी और अतीक अहमद जैसे माफिया के जुर्मों का हिसाब किया जा रहा है. अब प्रशासन की पैनी नजर इन बाहुबलियों के गुर्गों पर भी आ गई है.  अतीक अहमद के बेहद ख़ास माने जाने वाले बली पंडित के भाई हिमांशु त्रिपाठी के खिलाफ धूमनगंज के थाने में केस दर्ज हुआ है. 

हिमांशु त्रिपाठी पर सरकारी जमीन कब्जाने का इल्जाम है. इसके साथ ही, यह भी आरोप है कि उसने कागजों में हेरफेर कर भूमि पर कब्जा जमा लिया और फिर उसे बेच दिया. प्रयागराज डेवलपमेंट अथॉरिटी की जांच में यह मामला प्रकाश में आया है. इसके बाद ही पीडीए ने थाने में शिकायत दर्ज कराइ. यह मामला धूमनगंज के उमरपुर नींवा इलाके का है जहां की सरकारी भूमि अतीक अहमद के गुर्गे बली पंडित के भाई ने फर्जी तरीके से हथिया ली. बता दें कि, बली पंडित की गिनती अतीक अहमद गैंग के सक्रीय सदस्यों में होती है. वह धूमनगंज थाने के हिस्ट्रीशीटर की श्रेणी में आता है. हाल ही में प्रयागराज पुलिस ने बली पंडित को अरेस्ट कर जेल भेज दिया है. 

आपको बता दें कि प्रयागराज जिला प्रशासन और सरकार ने मिलकर अतीक अहमद की कई अवैध संपत्तियों को चिन्हित किया था, जिसमें उसके चुनावी कार्यालय और मकान सहित बाकी संपत्तियां गैंगस्टर एक्ट 14 (1) के तहत कुर्क की जा चुकी हैं. इन संपत्तियों की अनुमानित कीमत एक अरब के लगभग है. 

पेट्रोलियम मंत्री ने कहा बीपीसीएल के लिए लगाई जाएंगी तीन प्रारंभिक बोलियां

रिलायंस इंडस्ट्रीज लगातार दूसरे साल फॉर्च्यून इंडिया-500 की लिस्ट में सबसे ऊपर दर्ज किया नाम

नवंबर के बाद टाटा मोटर्स ने किया वाहन की बिक्री में 4% से अधिक का इजाफा

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -