बाराबंकी में फर्जी कोरोना वैक्सीनेशन का खुलासा! मीडियाकर्मियों पर हमला

बाराबंकी: बाराबंकी में एक बार फिर फर्जी वैक्सीनेशन हुआ है। हाल ही में मिली जानकारी के तहत श्रावस्ती से लाकर बाराबंकी तक फर्जी वैक्सीन लगाई जा रही थी। यहाँ एक गांव में मौके पर करीब 150 ग्रामीण वैक्सीनेशन करवा रहे थे। ऐसे में वैक्सीनेशन कर रहे स्वास्थ्य कर्मी ने बताया कि 'वह श्रावस्ती जिले में स्वास्थ्य विभाग में तैनात है और वहीं से वैक्सीन लाकर यहां ग्रामीणों का वैक्सीनेशन करता है।' इस दौरान मौके पर भारी मात्रा में कोवैक्सीन के खाली और भरे वॉयल मिले हैं। वहीँ जब मीडियाकर्मियों के कैमरे में ये फर्जी वैक्सीनेशन का खेल कैद हो गया, तो वहां मौजूद स्वास्थ्यकर्मियों और ग्रामीण अचानक आक्रोशित हो गए।

इस दौरान सभी ने मिलकर मीडिया कर्मियों को एक कमरे में कैद करके जिंदा जलाने की कोशिश की। बताया जा रहा है इसके बाद मीडियाकर्मियों को जान से मारने की धमकी दी गई। इस मामले में पुलिस ने 18 आरोपियों को नामजद करने के साथ ही करीब 50 अज्ञात लोगों के खिलाफ भी केस दर्ज किया है। इसी के साथ ही सभी आरोपियों की तलाश में पुलिस फोर्स गांव में लगातार दबिश दे रही है। यह पूरा मामला बाराबंकी में जैदपुर थाना क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले गांव मानपुर डेहुआ का है। यहाँ श्रावस्ती जिले का एक स्वास्थ्यकर्मी अक्सर वैक्सीन लाकर लोगों का वैक्सीनेशन किया करता था।

बीते शनिवार देर रात एक बार फिर ये स्वास्थ्यकर्मी उसी गांव में लगभग डेढ़ सौ लोगों का वैक्सीनशन कर रहा था। वहीँ यहाँ पूछताछ करने पर स्वास्थ्यकर्मी ने कबूल भी किया कि वो श्रावस्ती से वैक्सीन लाता है और अक्सर यहां पर लोगों का वैक्सीनेशन करता है। इस दौरान वैक्सीनेशन कर रहे शख्स ने अपना नाम सूर्य प्रताप सिंह बताया और कहा कि वह श्रावस्ती जिले में एलए के पद पर तैनात है। मौके पर मौजूद डस्टबिन में भी सैकड़ों की संख्या में इस्तेमाल की हुई सीरिंज भी बरामद हुईं हैं। यहाँ ग्रामीणों ने मीडियाकर्मियों से लूटपाट भी की।

उत्तराखंड में जारी हुआ ऑरेंज अलर्ट, आज भी भारी बारिश के आसार

'दवाई भी, कड़ाई भी’, मन की बात कार्यक्रम में बोले PM मोदी

इंदौर की तारीफ़ करते नहीं थके PM मोदी, मन की बात में बोले- 'स्वच्छता का नाम...'

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -