उन्नाव मामला: पीड़िता को हुआ निमोनिया, सांस लेने में दिक्कत, चिकित्सकों की चिंता बढ़ी

Aug 04 2019 11:33 AM
उन्नाव मामला: पीड़िता को हुआ निमोनिया, सांस लेने में दिक्कत, चिकित्सकों की चिंता बढ़ी

लखनऊ: केजीएमयू के ट्रामा सेंटर में जिंदगी और मौत से जूझ रही उन्नाव दुष्कर्म पीड़िता की हालत नाजुक हो गई है। अब पीड़िता को निमोनिया भी हो गया है। इससे उसे तेज बुखार भी है। वह अभी भी बेहोश है। इससे उपचार में लगी चिकित्सकों की टीम की चिंता बढ़ गई है। दूसरी तरफ वकील की स्थिति में निरंतर सुधार हो रहा है।

रायबरेली में सड़क दुर्घटना होने के बाद 28 जुलाई को उन्नाव दुष्कर्म पीड़िता और उसके वकील को नाजुक हालत में ट्रामा सेंटर में भर्ती कराया गया था। वह लगातार वेंटीलेटर पर है। शुक्रवार को कुछ देर के लिए पीड़िता को वेंटीलेटर से हटाकर जांच की गई थी। इस दौरान वह सांस लेने में असमर्थ नजर आईं। इस कारण उसे दोबारा वेंटीलेटर पर रखा गया है।  शनिवार को पीड़िता को निमोनिया होने और तेज बुखार होने से चिकित्सकों की चिता बढ़ गई है।

केजीएमयू के मीडिया प्रभारी प्रोफेसर संदीप तिवारी ने जानकारी देते हुए बताया है कि महिला मरीज की हालत गंभीर है। वेंटीलेटर पर मौजूद पीड़िता को निमोनिया हो गया है। इस वजह से उसे बुखार आ रहा है। पीड़िता का ब्लड प्रेशर भी अनियंत्रित हो गया था। शाम को दवाएं देने के बाद ब्लड प्रेशर काबू में आया है। निमोनिया को नियंत्रित करने की कोशिश चल रही है। वकील की हालत में मामूली सुधार है।

राहुल गांधी का मोदी सरकार पर गिरती अर्थव्यव्स्था को लेकर निशाना

देश का दोपहिया वाहन उद्योग भी मंदी के गिरफ्त में

हाउसिंग सेक्टर में मंदी दूर करने के लिए सरकार ने उठाया यह कदम