AIMPLB ने आयोजित करी ख़ास बैठक

Oct 19 2020 06:37 PM
AIMPLB ने आयोजित करी ख़ास बैठक

ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड (AIMPLB) की आभासी कार्यकारी बैठक ने समान नागरिक संहिता के खिलाफ सार्वजनिक राय बनाने की दिशा में काम करने का निर्णय लिया है। बोर्ड का कहना है कि भारत अलग-अलग संस्कृतियों और सभ्यताओं के साथ समान नागरिक संहिता "समान नहीं होगा"। एआईएमपीएलबी के सदस्य जफरयाब जिलानी ने बताया कि सत्तारूढ़ बीजेपी के एजेंडे में केवल समान नागरिक संहिता है और वे इसे लागू करने की दिशा में आगे बढ़ेंगे।

ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड (AIMPLB) की आभासी कार्यकारी बैठक ने समान नागरिक संहिता के खिलाफ सार्वजनिक राय बनाने की दिशा में काम करने का निर्णय लिया है। बोर्ड का कहना है कि भारत अलग-अलग संस्कृतियों और सभ्यताओं के साथ समान नागरिक संहिता "समान नहीं होगा"। एआईएमपीएलबी के सदस्य जफरयाब जिलानी ने बताया कि सत्तारूढ़ बीजेपी के एजेंडे में केवल समान नागरिक संहिता है और वे इसे लागू करने की दिशा में आगे बढ़ेंगे।

16वीं शताब्दी की मस्जिद को 6 दिसंबर 1992 को उन लोगों द्वारा ध्वस्त कर दिया गया था, जो यह मानते थे कि इस खाई ने भगवान राम जन्मस्थान पर कब्जा कर लिया है। विनाश से देश में सैकड़ों लोगों की जान जा रही है।

इन रक्त कोशिकाओं के उच्च स्तर से दूर हो सकती है कोरोना की बिमारी

कनाडा में चीनी दूतावास के सामने प्रदर्शन, मुसलमानों पर अत्याचार बंद करने की मांग

सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म ट्विटर ने ट्रम्प की करीबी सहायता से ट्वीट्स को किया ब्लॉक