'दो राज्य समाधान नहीं चाहिए, ये इजराइल के अस्तित्व को स्वीकार करने जैसा..', स्वतंत्र फिलिस्तीनी देश पर भी नहीं मान रहा हमास

'दो राज्य समाधान नहीं चाहिए, ये इजराइल के अस्तित्व को स्वीकार करने जैसा..', स्वतंत्र फिलिस्तीनी देश पर भी नहीं मान रहा हमास
Share:

रामल्लाह: फिलिस्तीनी आतंकी संगठन हमास ने इजराइल और फिलिस्तीन के दो-राज्य समाधान को स्पष्ट रूप से खारिज कर दिया है। उसका कहना है कि इस तरह के दृष्टिकोण का मतलब इजरायल के प्रभुत्व को स्वीकार करने जैसा है। साथ ही हमास ने 57 मुस्लिम देशों के गठबंधन इस्लामिक सहयोग संगठन (OIC) पर भी भड़ास निकाली है। हमास के प्रवक्ता के अनुसार, OIC पूरी तरह से नाकाम रहा है, खासकर गाजा में, जहां इसकी भूमिका निराशाजनक रही है।

फिलिस्तीनी आतंकी संगठन हमास के प्रवक्ता खालिद कदूमी ने कहा कि, OIC ने गाजा के लोगों के लिए कौन-सा अच्छा काम किया है ? OIC नाकाम रहा है, क्योंकि 50 से ज्यादा इस्लामी मुल्कों के इस मंच द्वारा कई प्रस्ताव पारित किए जाने के बावजूद इजराइल, गाजा पर लगातार बमबारी कर रहा है। एक इंटरव्यू में हमास के प्रवक्ता खालिद कदूमी ने कहा कि गाजा में मानवीय संकट निरंतर बढ़ता जा रहा है। क्या कोई मुस्लिम देश इजराइल पर क्रॉसिंग खोलने के लिए दबाव नहीं बना सकते ? आखिर मुस्लिम देश ऐसे करने में क्यों नाकाम हो रहे हैं ?

हमास के प्रवक्ता कदूमी ने कहा है कि उनका संगठन (हमास) इजराइल के साथ युद्ध खत्म करने के लिए टू स्टेट सॉल्युशन को नामंजूर करता है। कदूमी ने आगे कहा कि यदि हमास, दो स्टेट के समाधान को स्वीकार करता है, तो इसका अर्थ इजराइल के अस्तित्व को स्वीकार करना होगा। उन्होंने कहा कि यदि कोई चोर हमारे घर में आता है, तो क्या हमें उसे अपने घर में स्थान दे दें। हम ऐसा नहीं करेंगे, साथ ही आतंकी संगठन के प्रवक्ता ने कहा कि फिलीस्तीन के लोगों की किस्मत का फैसला करने का कोई अधिकार ब्रिटेन के पास नहीं है।

बता दें कि टू स्टेट सॉल्यूशन के तहत यहूदी देश इजराइल के साथ एक स्वतंत्र मुस्लिम देश फिलिस्तीन की स्थापना की बात कही गई है, यानी दो अलग समुदायों के लोगों के लिए दो अलग स्वतंत्र देश। लेकिन, हमास इसके समर्थन में नहीं है, उसका लक्ष्य यहूदी देश को तबाह करना है, जिसके लिए वो बार-बार इजराइल पर हमले करता रहता है। कई बार हमास कह भी चुका है कि, वो यहूदियों को पूरी तरह ख़त्म करना चाहता है। वहीं, यहूदी जो अपने अस्तित्व की लड़ाई लड़ रहे हैं, जिनकी आबादी दुनियाभर में महज 1 करोड़ के आसपास है, वो दुनिया में अपना एकमात्र देश इजराइल छोड़ना नहीं चाहते। हमास के हमलों के जवाब में इजराइल भी पूरी ताकत से गाज़ा पर हमले करता है, अब भी इजराइल वही कर रहा है, जिससे दुनियाभर के मुस्लिम देशों में हड़कंप मचा हुआ है। देखा जाए तो, फ़िलहाल 2 स्टेट फॉर्मूला ही इस समस्या का संभावित समाधान नज़र आता है, जो इजराइल को एक यहूदी बाहुल्य आबादी बनाए रखने की अनुमति देता है और फिलिस्तीनियों के लिए अलग मुस्लिम देश की व्यवस्था का प्रावधान करता है।

ये इस्लाम में हराम ! पकिस्तान में TikTok के खिलाफ जारी हुआ फतवा

चीन में विनाशकारी भूकंप, अब तक 149 लोगों की मौत, 14000 से अधिक घर तबाह

क्रिसमस की पूर्व रात गाज़ा में एयरस्ट्राइक, 70 लोगों की मौत, जीसस के जन्मस्थान 'बेथलहम' में नहीं मना जश्न

 

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -