'ऐसा फेंका भाला कि सबको हिला डाला', 13 साल के बाद भारत आया पहला स्वर्ण पदक

जेवलिन थ्रो फाइनल में भारत के भाला फेंक एथलीट नीरज चोपड़ा ने स्वर्ण पदक अपने नाम कर लिया है. ओलंपिक में ऐसा कारनामा करने वाले केवल दूसरे भारतीय बने. नीरज ने अपने प्रथम थ्रो में 87.03 मीटर दूर भाला फेंका है. नीरज से सभी को पदक की उम्मीद है. दूसरी तरफ जर्मनी के जोहानस वेटर ने अपनी पहली कोशिश में 82.52 मीटर का थ्रो किया है. पाकिस्तान के अरशद नदीम ने पहली कोशिश में भाला 82.40 मीटर थ्रो फेंका है. 

वही अभी नीरज ही टॉप पर हैं. दूसरी कोशिश में भी नीरज ने कमाल किया तथा उन्होंने दूसरी कोशिश में 87.58 मी. दूर भाला पेंका है. तीसरी कोशिश में नीरज ने 76.79 मी. दूर भाला फेंका है. तीनों कोशिश के पश्चात् भारत के नीरज चोपड़ा टॉप पर चल रहे हैं. पाकिस्तान के नदीम चौथे स्थान पर हैं. नीरज चोपड़ा का चौथा थ्रो फाउल रहा है. पांचवा प्रयास भी नीरज की फाउल हो गया है. 

पांचवे प्रयास में नीरज चोपड़ा का प्रयास एक बार फि से बेकार चला गया तथा इसमें भी उन्होंने फाउल कर दिया. बहरहाल, नीरज पांच प्रयासों के पश्चात् शीर्ष पर बरकार रहे. पांचवे प्रयास में चेकगणराज्य के जैकब वैदलैक ने गजब की ताकत दिखायी तथा वह 86.67 की दूरी पर भाला फेंक कर तीसरे नंबर पर आ गए. वहीं पांचवें स्थान पर चल रहे पाकिस्तानी अरशद नदीम ने पांचवे प्रयास में 81.98 मी. की दूरी तय की. वहीं, लंदन ओलिंपिक के ब्रांड मेडलिस्ट चेकगणराज्य के वितास्लेव वेलसी ने पांचवे प्रयास में 84.98 मी. दूरी पर भाला फेंका तथा ब्रॉन्ज की होड़ में खुद को बनाए रखा.

किसान का वो बेटा जो 19 साल में बना आर्मी अफसर, अब भाला फेंककर कर रहा है देश का नाम रोशन

ओलंपिक में बजरंग पूनिया की जीत से खुश हुए पीएम मोदी, राष्ट्रपति बोले- भारतीय कुश्ती के लिए एक खास पल

'कुछ साल रुकिए, हम गिलगित-बाल्टिस्तान में तिरंगा फहरा देंगे..', खालिस्तानी धमकी पर भाजपा का पलटवार

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -