अगस्ता डील के बिचैौलिए ने कहा, खुद को बचाने के लिए गांधी परिवार को भी बचाना होगा

नई दिल्ली : अगस्ता वेस्टलैंड डील के बिचैलिए क्रिश्टियन मिशेल जेम्स ने कहा है कि यदि उसे खुद को बेकसूर साबित करना है, तो उसे गांधी परिवार को निर्दोष साबित करना होगा। एक इंटरव्यू के दौरान बिचैलिए ने दावा किया है कि 2008 में उसने एक पत्र में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को इस डील से जुड़े सभी फैसले का ड्राइविंग फोर्स बताया था।

दुबई में रहने वाले मिशेल से जब पूछा गया कि क्या इस डील में सोनिया गांधी की कोई भागीदारी है, तो उसने कहा कि खुद को बचाने के लिए मुझे गांधी परिवार को बचाना होगा। मुझे खुद को बेकसूर साबित करने के लिए गांधी परिवार को भी बेकसूर प्रूव करना होगा।

हांला कि मिशेल ने कहा कि वह अपने उस दावे पर अभी भी कायम हैं, जिसमें उसने कहा था कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पिछले साल न्यूयॉर्क में इटली के प्रधानमंत्री से मुलाकात की थी। इस मुलाकात में उन्होने कहा था कि अगस्ता डील के बारे में जानकारी देने के बदले भारत में मर्डर के आरोप में बंद इटली के दो नौसैनिकों को छोड़ दिया जाएगा, क्योंकि इस जानकारी के जरिए सोनिया गांधी को शर्मसार होना पड़ता या उन्हें घेरा जा सकता था।

अगस्ता के जेल में बंद अन्य अधिकारियों के पत्रों में भी सोनिया गांधी और कांग्रेस के कई शीर्ष नेताओं के नाम है। संसद में सरकार ने इटली के पीएम और मोदी के बीच हुई किसी भी मुलाकात से इंकार किया था। मिशेल ने बताया कि उसने यह जानकारी दिल्ली में स्थित इटली के दूतावास से हासिल की है।

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -