टीएमसी कार्यकर्ता ने भाजपा नेता दिलीप घोष और मिथुन चक्रवर्ती के खिलाफ दर्ज करवाई शिकायत

तृणमूल कांग्रेस कार्यकर्ता ने राज्य के बाद चुनाव में चल रही हिंसा को देखते हुए पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है। कार्यकर्ता ने पश्चिम बंगाल भाजपा प्रमुख दिलीप घोष और अभिनेता मिथुन चक्रवर्ती के खिलाफ शिकायत की जानकारी दी है। उन्होंने शिकायत में जिस कारण से भाजपा कार्यकर्ताओं को भड़काने का कारण बताया है।

इसकी शिकायत कोलकाता के मानकतला पुलिस स्टेशन में दर्ज कराई गई है। अपनी शिकायत में श्रीतांजॉय पॉल ने कहा कि दोनों भाजपा नेताओं ने भाजपा कार्यकर्ताओं को 'पूरे पश्चिम बंगाल में हिंसा और क्रूरता फैलाने' के लिए उकसाया। पश्चिम बंगाल इकाई में भाजपा के अध्यक्ष दिलीप घोष, जबकि अभिनेता-नर्तकी-राजनेता मिथुन चक्रवर्ती इस साल की शुरुआत में राज्य विधानसभा चुनाव की दौड़ में पार्टी में शामिल हुए थे। शिकायतकर्ता ने दोनों भाजपा नेताओं के बयानों पर आरोप लगाया कि उनका मानना है कि टीएमसी कार्यकर्ताओं को 'हत्या, गंभीर चोट, मारपीट और चोट' का कारण बना, जिन्हें उनके घरों से वंचित कर दिया गया है। 

चुनाव अभियान "मार्बो एखाने लाश पोर्ब शोशे" और "एक चोबोले चोबी" की कथित टिप्पणियों का हवाला देते हुए शिकायतकर्ता का दावा है कि इन टिप्पणियों ने भाजपा कार्यकर्ताओं को टीएमसी कार्यकर्ताओं के खिलाफ अपार क्रूरता करने के लिए उकसाया। इस शिकायत में अभिनेता से राजनेता बने अभिनेता से भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मौजूदगी में कोलकाता में ब्रिगेड ग्राउंड की जनसभा के दौरान ये कथित टिप्पणी की गई। कोलकाता पुलिस स्टेशन में दर्ज शिकायत में दिलीप घोष की कथित टिप्पणियों का हवाला दिया गया है, जिनमें "चेले बू के डेखर लोक ठकबे ना", "ओनाथ कोरे डेबो", "कीयू भोग कोरटे परबे ना", और "चोय फुट आला पथबो नाहोल ओपर थेक चोय फुट नामाबो" शामिल हैं। विपक्षी दल द्वारा इस्तेमाल किए गए इस तरह के उत्तेजक शब्द अब राज्य में इस तरह के चुनाव के बाद हिंसा के माध्यम से असली रंग दिखा रहे हैं।

इंदौर: 4000 हेल्थ वर्कर्स ने दी चेतावनी- 'कलेक्टर को हटाओ नहीं तो दे देंगे इस्तीफ़ा'

MP: सब्जी बेचने जा रहे किसान को पुलिस ने मारी लात

Google के सुंदर पिचाई सहित दो भारतीय-अमेरिकी CEO कोविड ग्लोबल टास्कफोर्स पैनल में शामिल

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -