सावधान : आपकी निजी जानकारी को चुरा सकता है यह मालवेयर ऐप

दुनियाभर के स्मार्टफोन लवर्स के लिए एंड्रॉइड प्लेटफॉर्म पर कई ऐसी ऐप्स मौजूद हैं जो यूजर्स की डिवाइस और उनकी निजी जानकारियों के लिए बेहद खतरनाक साबित हो सकती हैं. आए दिन इस तरह की खबरें आती रहती हैं. अब एक नई रिपोर्ट सामने आई है जिसमें बताया जा रहा है कि हजारों एंड्रॉइड ऐप्स में backdoor नाम का मालवेयर पाया जा रहा है. यह यूजर्स की अनुमति के बिना ही उनके फोन को एक्सेस कर लेता है.

घर पर ही ऐसे सही करें वाई-फाई

आपकी जानकारी के लिए बात दे कि ओहायो स्टेट यूनिवर्सिटी, न्यू यॉर्क यूनिवर्सिटी और हेल्महोल्ट्ज सेंटर फॉर इनफॉरमेशन सिक्यॉरिटी (CISPA) की एक रिसर्च में यह बात सामने आई है. इस रिसर्च में बताया गया है कि कुछ ही दिन पहले InputScope नाम का एक टूल डेवलप किया गया था. इस टूल ने 1.5 लाख ऐप्स की जांचा था. इसमें से 1 लाख ऐप गूगल प्ले स्टोर, 30 हजार सैमसंग फोन में प्री-इंस्टॉल और 20 हजार ऐप्स चाइनीज कंपनी Baidu के थे. अब इन 1.5 लाख ऐप्स में 12,706 ऐप्स ऐसी थीं जिनमें backdoor नाम का मालवेयर मौजूद था. वहीं, 4,028 ऐप्स ऐसी थीं जिसमें ब्लैकलिस्टेड वर्ड्स शामिल थे. स्टडी में पाया गया है कि यह मालवेयर उन ऐप्स में ज्यादा पाया जाता है जो स्मार्टफोन में प्री-इंस्टॉल्ड होती हैं.

Whatsapp में ग्रुप वीडियो कॉल के लिए आया नया फीचर

अगर आपको नही पता तो बता दे कि ये ऐप्स यूजर्स के निजी डाटा का एक्सेस हैकर्स को दे देते हैं. इसमें रिमोट लॉगइन, पासवर्ड, कॉन्टैक्ट डिटेल और पेमेंट इंटरफेस शामिल है. यह जानकारी यूजर्स की अनुमति के बिना ही हैकर्स तक पहुंच जाती हैं. रिसर्चर्स के मुताबिक, backdoor मालवेयर में सीक्रेट एक्सेस कीज, मास्टर पासवर्ड और सीक्रेट प्रिविलेज कमांड्स आदि जैसी जानकारियां शामिल होती हैं. इसके अलावा अगर ब्लैकलिस्टेड वर्ड्स की बात करें तो इसमें सेंसरशिप कीवर्ड्स, साइबर बुलिंग एक्सप्रेशन और वीक पासवर्ड जैसे शामिल होते हैं.

Mahindra XUV500 BS4 लवर्स के लिए बुरी खबर, कंपनी ने बोली यह बात

लाईकी बनी दुनिया की छठी सर्वाधिक डाउनलोड की जाने वाली ऍप: ऍप एनी

Twitter पर कोरोनावायरस से जुड़ी गलत जानकारी से ऐसे बचिए

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -