यह कोच करता था अपने ही स्टूडेंट्स का शोषण

ब्राजील: युवा जिम्नास्टों के यौन उत्पीड़न के आरोप में ब्राजील के एक कोच को उनके क्लब ने पद से हटा दिया है. उन पर करीब 42 जिम्नास्टों के यौन उत्पीड़न का आरोप है.फर्नांडो डि कार्वाल्हो लोपेस को उनके क्लब एमईएससी ने नौकरी से निकाल दिया जहां वह दो दशक से जिम्नास्टों को प्रशिक्षण दे रहे थे.

इस क्लब ने जानकारी देते हुए कहा कि पहला आरोप सामने आने के बाद ही कोच को प्रशासनिक पद पर स्थानांतरित कर दिया गया था. रियो ओलम्पिक से ठीक पहले एक युवा जिम्नास्ट के माता पिता से इस कोच के बारे में शिकायत मिलने के बाद उन्हें राष्ट्रीय टीम के स्टाफ से हटा दिया गया था. उन पर करीब 42 जिम्नास्टों के यौन उत्पीडऩ का आरोप लाहा हुआ है .

गौरतलब है कि इस साल की शुरुआत में एक अमेरिकी खेल डॉक्टर लैरी नेस्सार को ओलंपिक जिमनास्ट समेत कई महिलाओं और लड़कियों के यौन उत्पीड़न के मामले में उम्रकैद की सजा सुनाई थी. इस तरह की घटना गुरु और शिष्य परम्परा को कलंकित करती है. जो कि समाज में अच्छे गुरुओं पर भी सवाल उठा देती है. गौरतलब है कि इस घटना की बाद फर्नांडो डि कार्वाल्हो लोपेस को उनके क्लब एमईएससी ने नौकरी से निकाल दिया.

फुटबॉलर सुनील छेत्री को मिलेगा पद्म श्री

फुटबॉलर सुनील छेत्री को मिलेगा पद्म श्री

IPL 2018: हुई बड़ी चूक, फिर बाहर हो सकती है राजस्थान रॉयल

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -