इसलिए गर्भवती स्त्री को किसी मृत व्यक्ति के पास नहीं जाना चाहिए

Mar 13 2018 04:34 PM
इसलिए गर्भवती स्त्री को किसी मृत व्यक्ति के पास नहीं जाना चाहिए

भारत में कई परम्पराएँ व रीति-रिवाज ऐसे है जो आज भी प्रचलन में है जिन्हें कई बार निभाना बहुत कठिन हो जाता है. भारत का आधार यहाँ की परंपरा और संस्कृति है जिसके कारण दुनिया में भारत का ख़ास स्थान है. ऐसी ही एक रीत है कि किसी भी गर्भवती स्त्री को किसी मृत व्यक्ति की देह के पास जाना शुभ नहीं माना जाता है. किन्तु कई लोग इसे अंधविश्वास मानते है और इस बात पर ध्यान नहीं देते है. क्या आप जानते है इस बात को वैज्ञानिको ने भी माना है कि किसी गर्भवती स्त्री का किसी मृत व्यक्ति के पास जाना उसके व होने वाले बच्चे के लिए उचित नहीं होता है. आइये जानते है कि इसके पीछे वैज्ञानिको का क्या तर्क है और हमारे बुजुर्गों के द्वारा प्रारंभ की गई इस रीति में कितनी सच्चाई है ?

जिस घर में किसी व्यक्ति की मृत्यु होती है वहां का वातावरण दुःख से भरा होता है. यदि कोई गर्भवती स्त्री वहां जाती है तो उस वातावरण का प्रभाव उस स्त्री के मन व शरीर पर होता है जिसके कारण उसके शरीर से निकलने वाले हारमोंस प्रभावित होते है और इसका प्रभाव होने वाले बच्चे पर होता है और जन्म के समय स्त्री के प्रसव के दौरान इस घटना के प्रभाव देखने को मिलते है.

इस विषय में वैज्ञानिको का मानना है कि जब व्यक्ति की मृत्यु होती है तो उसके शरीर में कई बैक्टीरिया पनप जाते है जो किसी भी गर्भवती स्त्री व उसके होनेवाले बच्चे को प्रभावित कर सकते है. क्योंकि गर्भवती स्त्री शारीरिक रूप से कमजोर होती है इसी वजह उनके शरीर और होने वाले बच्चे पर इसका प्रभाव जल्दी होता है. इस कारण से गर्भवती स्त्री को किसी मृत व्यक्ति के पास नहीं जाना चाहिए.

ऐसे पहचाने आपके घर में नकारात्मक शक्ति का वास है अथवा नहीं

शनिवार के दिन अनजाने में किया गया यह काम शनिदेव को करता है नाराज

ऐसे लोग लड़कियों से दोस्ती करते है तो सिर्फ काम वासना के लिए

विदेश यात्रा का सपना आप भी कर सकते है ऐसे साकार