भारत के पहले स्वदेश निर्मित एयरक्रॉफ्ट ‘विक्रांत’ का परिक्षण आज से हुआ शुरू

नई दिल्ली: भारत के पहले स्वदेश निर्मित विमानवाहक जहाज ‘विक्रांत’ का आज से समुद्र में परीक्षण आरंभ हो गया है. यह देश में निर्मित सबसे बड़ा और जटिल युद्धपोत है. इंडियन नेवी ने इसे देश के लिए 'गौरवान्वित करने वाला और ऐतिहासिक' दिन करार देते हुए कहा कि भारत उन चुनिंदा देशों में शामिल हो गया है, जिनके पास विशिष्ट क्षमता वाला स्वदेशी रूप से डिजाइन, निर्मित और एकीकृत अत्याधुनिक विमानवाहक पोत है.

उन्होंने बताया कि इस जहाज का वजन 40,000 टन है और यह पहली दफा समुद्र में परीक्षण के लिए पूरी तरह तैयार है. बता दें कि इसके नाम वाले एक जहाज ने 50 वर्ष पूर्व 1971 के युद्ध में अहम भूमिका निभायी थी. इस विमानवाहक जहाज को अगले साल के उत्तरार्द्ध में इंडियन नेवी के बेड़े में शामिल किए जाने की संभावना है. इंडियन नेवी के प्रवक्ता कमांडर विवेक मधवाल ने बताया है कि, ‘‘यह देश के लिए गौरवान्वित करने वाला और ऐतिहासिक दिन है क्योंकि 1971 की जंग में जीत में अहम भूमिका निभाने वाले अपने शानदार पूर्ववर्ती जहाज के 50वें वर्ष में आज यह समुद्र में टेस्टिंग के लिए पहली बार रवाना हुआ है.'

उन्होंने आगे कहा कि यह भारत में बना सबसे बड़ा और जटिल युद्धपोत है. उन्होंने कहा कि, 'आत्मनिर्भर भारत’ और ‘मेक इन इंडिया’ पहल के तहत यह एक गौरवान्वित करने वाला और ऐतिहासिक दिन है.

टाटा मोटर्स ने पेश किया नया वैरिएंट टियागो एनआरजी, जानिए क्या है इसकी कीमत

निफ्टी टुडे: इकनॉमिक रिकवरी से इक्विटीज में तेजी, 50 हजार के पार हुआ आंकड़ा

इंडिगो एयरलाइन अंतरराष्ट्रीय यात्रा के लिए IATA ट्रैवल पास करेगी लॉन्च

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -