तहसीन पूनावाला की चुनाव आयोग से मांग, कहा- साध्वी प्रज्ञा के चुनाव लड़ने पर लगे रोक

तहसीन पूनावाला की चुनाव आयोग से मांग, कहा- साध्वी प्रज्ञा के चुनाव लड़ने पर लगे रोक

नई दिल्ली: मालेगांव ब्लास्ट मामले में आरोपी साध्वी प्रज्ञा के विरुद्ध पूर्व कांग्रेस नेता तहसीन पूनावाला ने निर्वाचन आयोग से शिकायत की है. तहसीन पूनावाला ने निर्वाचन आयोग से मांग की है कि साध्वी प्रज्ञा के चुनाव लड़ने पर रोक लगाई जाए. पूनावाला ने कहा है कि साध्वी के खिलाफ आतंकवादी घटनाओं में शामिल होने का मुकदमा चल रहा है, वे जमानत पर बाहर हैं, ऐसे में उनके चुनाव लड़ने पर रोक लगाई जाना चाहिए.

तहसीन पूनावाला ने साध्वी प्रज्ञा की भोपाल लोकसभा सीट से उम्मीदवारी पर सवाल खड़े किए हैं और निर्वाचन आयोग से दखल की मांग की है. पत्र में प्रमुखता से लिखा गया है कि,  'इस पत्र को मेरी तरफ से शिकायत पत्र माना जाए. मैं निर्वाचन आयोग का ध्यान इस ओर आकर्षित करना चाहता हूं कि 17 अप्रैल 2019 को भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने भोपाल लोकसभा सीट से मालेगांव धमाके मामले के मुख्य आरोपियों में से एक प्रज्ञा सिंह ठाकुर को उम्मीदवार बनाया है. यह बताना आवश्यक है कि महाराष्ट्र की एंटी टेररिज्म स्क्वाड (एटीएस) ने 29 सितंबर 2008 को हुए मालेगांव धमाका मामले में साध्वी प्रज्ञा को मुख्य षड्यंत्रकारी माना है. इस धमाके में 6 लोगों की मौत हो गई थी वहीं 101 लोग जख्मी हो गए थे.'

पूनावाला ने कहा है कि, साध्वी प्रज्ञा इसमें आरोपी हैं. प्रज्ञा ठाकुर भारतीय दंड संहिता और अन्य गंभीर अधिनियमों की धाराओं के तहत कई गंभीर अपराधों के केस का सामना कर रही हैं. फिलहाल स्वास्थ्य कारणों से वे जमानत पर हैं. उन पर हत्या की कोशिश, आपराधिक षड्यंत्र और समाज में नफरत फ़ैलाने के आरोप हैं.

खबरें और भी:-

जमानत के प्रश्न पर बोलीं साध्वी प्रज्ञा, कहा- कांग्रेस का शीर्ष नेतृत्व भी बेल पर बाहर

'मोदी की सेना' वाले बयान पर घिरे नकवी, चुनाव आयोग ने कहा- भविष्य में ध्यान रखें

शत्रु ने अपनी पत्नी के लिए किया चुनाव प्रचार, कांग्रेस नेता ने लिया आड़े हाथ