लड़कियों को परेशान करने कुछ इस तरह चक्कर लगाते हैं मजनूं

Sep 04 2015 11:36 PM
लड़कियों को परेशान करने कुछ इस तरह चक्कर लगाते हैं मजनूं

इंदौर। स्कूल-कॉलेजों के बाहर हमेशा खड़े रहने वाले सड़कछाप मजनू अब फिर दिखाई देने लगे हैं, निर्भया टीम की तैनाती के बाद जिन जगहों पर छेड़खानी की घटना लगभग समाप्त हो चुकी थीं, अब उन्हीं रास्तों पर फिर से मजनुअों ने अपना डेरा डालना शुरू कर दिया है। परेशान लड़कियां रास्ता बदलने को मजबूर हो गई हैं। जिसकी वजह है निर्भया की सुरक्षा टीम का वह तैनात न होना। जिले में छात्राओं की सुरक्षा की दृष्टि से पिछले साल पुलिस ने निर्भया विंग का गठन किया था।

टीम के गठन के बाद स्कूल-कॉलेजों के बाहर मनचलों का हुजूम लगना लगभग पूरी तरह से खत्म हो गया था। इसके पहले बाइक सवार शरारती अपवाद आती-जाती लड़कियों को छेड़ते और भाग जाते थे। कई बार डर से तो, कई बार पहचान नहीं पाने से लड़कियां चुप रह जाती थीं। निर्भया टीम स्कूल खुलने और छुट्टी होने के वक्त बाहर खड़े रहकर रक्षक की भूमिका निभाती थीं। कई बार टीम ने मजनुओं का जमकर इश्क का नशा भी उतारा और धुलाई करते हुए थाने के चक्कर भी लगवाए। इसके बाद निर्भया टीम देखकर ही मनचले अपना रास्ता बदलने लगे थे। लेकिन बीते 2 महीनों से टीम शहर से नदारद है और मजनूं अब गर्ल्स कॉलेज व गर्ल्स स्कूल आसपास फिर से नजर आने लगे हैं।