फिल्म की कहानी के कारण लिया निर्देशन का निर्णय : क्रिश

Apr 27 2015 05:17 PM
फिल्म की कहानी के कारण लिया निर्देशन का निर्णय : क्रिश

'गमयम' और 'वेदम' जैसी मानवीय तेलुगू फिल्मों के मशहूर फिल्म निर्माता क्रिश ने 'गब्बर इज बैक' के साथ बॉलीवुड में निर्देशन की दुनिया में कदम रखा है. उन्होंने बताया कि इस फिल्म के साथ उन्होंने एक बड़ी व्यावसायिक छलांग भरी है. 'गब्बर इज बैक' तमिल फिल्म 'रमाना' का हिंदी रीमेक है, जिसका लेखन और निर्देशन एक दशक पहले ए.आर. मुरुगदास ने किया था. क्रिश ने एक साक्षात्कार में बताया, आप कह सकते हैं कि 'गब्बर.' के साथ मैंने एक पेशेवर छलांग ली है. यह मुख्यतौर पर कहानी के कारण है, क्योंकि यह भ्रष्ट्राचार के खिलाफ खड़े होने वाले एक व्यक्ति की कहानी है.

मेरी अभी तक की सभी फिल्मों में व्यावसायिक तत्व रहे हैं, लेकिन इस बार मैंने प्रतिस्पर्धा बढ़ाई है. उन्होंने बताया कि यह फिल्म अभी तक के सभी रीमेक संस्करणों पर भारी पड़ेगी। तेलुगू, कन्नड़ और बंगाली में 'रमाना' का रीमेक पहले ही बनाया जा चुका है. क्रिश ने बताया, अक्षय ने भ्रष्टाचार निगरानी समिति के एक सदस्य की भूमिका निभाई है. यहां अक्षय भ्रष्टाचार के खिलाफ आवाज उठा रहे हैं. उन्होंने बताया, फिल्म के एक दृश्य में अक्षय पुलिस को एक बिना नाम का पत्र लिख रहे हैं और उसी समय टेलीविजन में 'शोले' फिल्म चल रही है. वह भ्रष्ट लोगों के मन में डर पैदा करना चाहते हैं, इसके लिए उन्हें गब्बर नाम उचित लगता है.

फिल्म में श्रुति हासन और तेलुगू अभिनेता सुनम तलवार भी नजर आएंगे। फिल्म का निर्माण संजय लीला भंसाली और वायकम 18 मोशन पिक्चर्स द्वारा संयुक्त रूप से हो रहा है. उन्होंने बताया, फिल्म को बॉलीवुड दर्शकों के अनुरूप बनाने के लिए इसकी कहानी में कुछ बदलाव किए गए हैं. उन्होंने बताया, "अक्षय के साथ काम करने में कोई दबाव नहीं था. यह बहुत रोमाचंक था. हमने 100 से ज्यादा दिन शूटिंग की. उन्होंने हर दिन एक नए कलाकार के जैसे उत्साह से काम किया.