सौतेली माँ ने बेटी के तोते पर निकाला गुस्सा और..

सौतेली माँ ने बेटी के तोते पर निकाला गुस्सा और..

कहते हैं सौतेले लोग कभी अपने सेज नहीं हो सकते और ऐसा कई बार देखा भी गया है. सौतेली माँ अक्सर सौतेले बच्चों के साथ बुरा व्यवहार करती  है, ऐसा शायद ही कोई होगा जो सौतेले बच्चे को भी अपना बना कर रखे. आज हम आपको एक और ऐसा ही मामला सुनाने जा रहे हैं जिसे सुनकर आप भी हैरानी में पड़ जायेंगे. जी हाँ, सौतेली माँ अपने बच्चों को तो पीट सकती है लेकिन उनके पालतू जानवर को कोई कैसे पीट सकता है जिससे उन्हें कोई मतलब ही ना होता हो. भला जो बोल नहीं पाता उसे कोई कैसे पीट-पीट कर मार सकता है. ऐसा ही मामला है ये जिसे हम बताने जा रहे हैं.

एक ही दिन में बना है ये अनोखा शिव मंदिर

दरअसल, मामला है वियतनाम की रहने वाली त्रान थी थुई हैंग(Tran Thi Thuy Hang) को सिंगापुर की अदालत ने सजा सुनाई है. इस सजा के पीछे की गलती सुनकर आप हैरान रह जायेंगे. दरअसल, कुछ समय पहले हैंग की सौतली बेटी के तोते 'लकी' ने दाहिने गाल में उसे काट लिया था जिसके चलते उस महिला ने तोते को पिंजरे में ही मार डाला. तोते ने जब काटा तो इसकी शिकायत उसने अपने पति यू ची मेंग से की और घर से उसे बाहर निकालने को कहा. लेकिन जब पिता और बेटी घर पर नहीं थे तो हैंग ने थापी से उस तोते को इतना मारा जब तक वो मर नहीं गया.

अपनी उम्र को मात देकर यह काम कर रहीं हैं 89 साल की दादी

इतना ही नहीं, हैंग का इसमें भी जी नहीं भरा तो उसने लकी और उसके पिंजरे को घर से बाहर निकाल कर फेंक दिया. इस मामले पर जज ने उसे ये सजा दी कि हैंग ने ये काम जान बूझकर किया है इसलिए 5 हफ्ते की सज़ा दी जाती है और इस पर हैंग ने अपनी गलती भी स्वीर ली.

देख भाई देख..

स्कूलों के अटेंडेंस टेबलेट में दिख रही अश्लील तस्वीरें, आईटी ने दिया ये जवाब

Friendship Day : ऐसे दोस्त ही बनाते हैं आपकी लाइफ को क्रेजी

?