जन्मदिन विशेष : टेस्ट-वनडे में जीरो, लेकिन प्रथम श्रेणी में हीरो, ठोंके कुल 32 शतक

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व बाएं हाथ के बल्लेबाज और बाएं हाथ के ऑर्थोडॉक्स स्पिन गेंदबाज श्रीधरन श्रीराम के लिए आज का दिन काफी अहम और खास है. आज ही के दिन साल 1976 में तमिलनाडु की राजधानी चेन्नई में श्रीधरन श्रीराम का जन्म हुआ था. आज वे पूरे 43 वर्ष के हो चुके है. एक समय में वे अपने ऑलराउंड प्रदर्शन से ख़ास पहचान बना चुके थे. वे फ़िलहाल क्रिकेट से संन्यास ले चुके है और अब श्रीधरन श्रीराम क्रिकेट की दुनिया से काफी दूर है. वे इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) में भी अपना जलवा बिखेर चुके हैं. 

श्रीधरन श्रीराम का व्यक्तिगत जीवन...

श्रीधरन श्रीराम के पिता का नाम डॉ. एस.डी. श्रीधरन है जो कि एक प्रसिद्ध कर्नाटक वायलिन वादक है और उनकी माँ रामप्रिया श्रीधरन हैं. उनके वैवाहिक जीवन की बात की जाए तो उन्होंने 2006 में पवित्रा संग सात फेरे लिए थे. उन्होंने 2009 में विद्रोही इंडियन क्रिकेट लीग को छोड़ दिया और इंडियन प्रीमियर लीग से वे इसके बाद जुड़े थे. जहां उन्होंने दिल्ली डेयरडेविल्स की टीम से क्रिकेट खेला. 

श्रीधरन श्रीराम का क्रिकेट करियर एक नज़र में...

श्रीधरन श्रीराम ने अपने क्रिकेट करियर में एक भी टेस्ट मैच नहीं खेला. जबकि वनडे भी उन्होंने काफी कम खेलें हैं. उन्होंने महज 8 वनडे खेलें, जिनकी 7 पारियों में वे कोई कमाल नहीं दिखा सके. उन्होंने वनडे में कुल 81 रन बनाए. उनके नाम एक अर्द्धशतक दर्ज है. बात करें प्रथम श्री की तो यहां उनका जलवा देखने को मिला. उन्होंने कुल 133 मैचों की 194 पारियों में 9539 रन बनाए. इसमें उन्होंने 32 शतकों के साथ कुल 36 अर्द्धशतक जड़े. लिस्ट ए के 147 मैचों की 138 पारियों में भी उनका बोलबाला रहा. यहां उन्होंने कुल 4168 रन बनाए. जिसमे 4 शतक के साथ 26 अर्द्धशतक शामिल है. भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व क्रिकेटर श्रीधरन श्रीराम को उनके 43वें जन्मदिन पर न्यूज़ट्रैक परिवार की ओर से ढेर सारी शुभकामनाएं...

बीसीसीआई ने घोषित किया आईपीएल के शुरुवाती दो सप्ताह का कार्यक्रम

ओमान की क्रिकेट टीम ने बनाया एक ऐसा रिकॉर्ड

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -