अंतरिक्ष में सिर्फ 2 मिनट तक ही जीवित रह सकता है इंसान, जानें रोचक तथ्य

अंतरिक्ष में सिर्फ 2 मिनट तक ही जीवित रह सकता है इंसान, जानें रोचक तथ्य

अंतरिक्ष का विषय हमेशा से ही वैज्ञानिकों के लिए रोचक रहा हैं. इससे जुडी नई नई जानकारी सामने अति ही रहती हैं और साथ ही खुलासे भी होते रहते हैं. कई सालों पहले अंतरिक्ष में जाना एक कल्पना थी लेकिन आज यह संभव है. आज कई लोग अंतरिक्ष में जा चुके हैं और उनके बारे में जानकारी भी दे चुके हैं. आम इंसान में भी अंतरिक्ष से जुड़ी जानकारी पाने की चाहत रहती हैं कि वहां का जीवन कैसा हैं. अगर आप भी जानना चाहते हैं तो जानें यहां. हम आपके लिए अंतरिक्ष से जुड़े कुछ मजेदार तथ्य लेकर आए हैं जिसके अनुसार कुछ काम ऐसे हैं जो व्यक्ति अंतरिक्ष में बिलकुल नहीं कर सकता हैं और ये काम आपको हैरानी में डाल सकते हैं. 
 
- अगर किसी इंसान को बिना किसी सुरक्षा उपकरण के अंतरिक्ष में छोड़ दिया जाए तो वह सिर्फ दो मिनट तक ही जीवित रह पाएगा. दरअसल स्पेस में हवा का दबाव नहीं होता है, ऐसे में बिना किसी सुरक्षा उपकरण के अगर कोई इंसान अंतरिक्ष में जाएगा तो उसका शरीर फट जाएगा. 

- अगर कोई इंसान अंतरिक्ष में चिल्लाएगा तो भी पास खड़े लोग उसकी आवाज नहीं सुन पाएंगे, क्योंकि वहां पर आपकी आवाज को एक स्थान से दूसरे स्थान तक पहुंचाने का कोई माध्यम नहीं होता है.

- अंतरिक्ष में कोई इंसान चाह कर भी रो नहीं सकता, क्योंकि गुरुत्वाकर्षण न होने के कारण उसके आंसू नीचे ही नहीं गिरेंगे. 

- अंतरिक्ष यात्री अपने भोजन पर नमक या मिर्च भी नहीं छिड़क सकते हैं. वो भोजन भी द्रव्य के रूप में लेते हैं, क्योंकि गुरुत्वाकर्षण न होने के कारण सूखे भोजन हवा में तैरने लगेंगे और इधर-उधर टकराने के साथ ही वो अंतरिक्ष यात्री की आंख में भी घुस सकते हैं. 

- अंतरिक्ष यान में यात्रियों का सोना काफी कठिनाई भरा होता है. अंतरिक्ष यात्री को सोने के लिए काफी मेहनत करनी होती है. उन्हें आंखों पर पट्टी बांध कर एक बंकर में सोना पड़ता है, ताकि वह तैरने और इधर-उधर टकराने से बच सकें.

जेल को बहुत याद कर रहा था शख्स, जाने के लिए किया ऐसा काम

अब बेडशीट ही बताएगी कि आखिरी बार कब धोया गया था, जानें कैसे