सीतापुर हादसा. पहले भी कर चुका है परिजनों की ह्त्या

अमृतसर-सहरसा जनसेवा एक्सप्रेस से पत्नी आफरीना खातून (35) व चार बेटियों को ट्रेन से फेंकने वाले ईदू के बारे में उसकी सास का कहना है कि वह साइको किलर है. दूसरी पत्नी और बेटियों को ट्रेन से फेंकने से पहले ईदू पर अपनी पहली पत्नी, बेटे और साले को भी मौत के घाट उतारने के आरोप हैं.

ईदू की सास  राबया खातून ने बताया कि लगभग 6 वर्ष पूर्व जगदीशपुर के शेखौना में ईदू ने अपने साले तैयब की गला रेत कर हत्या कर दी थी. इस मामले में इदू ने अपने ससुराल वालों को झांसा देकर गांव के अनिल ठाकुर व भरत ठाकुर को फंसा दिया था. लगभग 6 वर्षों बाद सच्चाई का खुलासा हुआ. 

 

इदू पहले भी हत्या की तीन घटनाओं में संदिग्ध रहा है. साले की हत्या में तो पुलिस ने उसके खिलाफ केस डायरी भी लिखी है. ईदू की पहली पत्नी की मौत के लिए भी गाँव वालों को इदू पर ही शक रहा है. उसके छोटे पुत्र रइस शव भी घर में ही मिला था, तब भी चर्चा ज़ोरों पर रही कि उसी ने अपने बेटे को मारा है.

 

लड़ाई को ख़त्म करने के लिए छोटे भाई ने उठाया खौफनाक कदम

खेत के लिए झगड़ा, किसान पर जानलेवा हमला

सुंदर भाटी गैंग के बदमाशों की गाड़ियां ज़ब्त

 

 

 

 

 

Most Popular

- Sponsored Advert -