उन्नाव गैंगरेप केस की जांच के लिए एसआईटी गठित

उन्नाव गैंगरेप केस में उत्तर प्रदेश पुलिस ने मंगलवार को बीजेपी विधायक के भाई अतुल सिंह सेंगर को गिरफ्तार कर लिया है. इस मामले में लखनऊ क्राइम ब्रांच ने BJP विधायक कुलदीप सिंह सेंगर के भाई अतुल सिंह के अलावा समेत चार आरोपियों को गिरफ्तार किया है. मामलें में आगे कार्यवाही करते हुए उन्नाव गैंगरेप केस की जांच के लिए एसआईटी गठित कर दी है. एडीजी लॉ एंड ऑर्डर आनंद कुमार ने कहा कि एसआईटी उन्नाव पुलिस द्वारा दी गई रिपोर्ट की जांच करेगी. उन्नाव पुलिस का कहना है कि पीड़िता ने अपने बयान में बीजेपी विधायक का नाम नहीं लिया था. इसलिए उनके खिलाफ केस दर्ज नहीं हुआ है. जरूरत पड़ी तो उनसे भी पूछताछ की जाएगी.

आनंद कुमार ने बताया कि पीड़िता के पिता की पोस्टमार्टम रिपोर्ट आ गई है. इसमें उनकी मौत शॉक और आंत में छेद होने की वजह से बताई गई है. इस केस में कार्रवाई करते हुए यूपी पुलिस ने बीजेपी विधायक कुलदीप सेंगर के भाई सहित चार लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया है. एसआईटी इस केस से जुड़े हर लोगों से पूछताछ और जांच करेगी.

बता दें कि बीजेपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर के खिलाफ युवती के साथ सामूहिक दुष्कर्म का आरोप और फर्जी मुकदमे में जेल भेजे गए पीड़िता के पिता की हिरासत में मौत के बाद योगी सरकार बुरी तरह घिरी हुई थी. जिसके बाद ये एक्शन लिया गया है. सोमवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आरोपी विधायक को तलब किया था, उसके बाद कहा था कि जांच के आदेश दिए गए हैं और कोई भी आरोपी छूटेगा नहीं.  सोमवार को पीड़ित युवती ने काफी खुलासे किए थे.

 

उन्नाव गैंगरेप: बीजेपी विधायक का भाई गिरफ्तार

बलात्कार के आरोप में खुद की तुलना राम से करते योगी के विधायक

यूपी मे गैंगरेप पीड़िता ने बीजेपी विधायक को लेकर किये ये खुलासें

'मुन्ना मवाली' की मेनका बनी लेडी रजनीकांत अंजना सिंह

 

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -