जीएसटी परिषद की बैठक में कपड़ा पर प्रस्तावित कर वृद्धि के खिलाफ बोलेंगे सिसोदिया

नई दिल्ली: जीएसटी (वस्तु एवं सेवा कर) परिषद की शुक्रवार को होने वाली बैठक में दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया कपड़ा पर बढ़ा हुआ कर 5 फीसदी से बढ़ाकर 12 फीसदी करने पर जोर देंगे।

सिसोदिया ने गुरुवार को ट्वीट कर कहा, "कपड़ा व्यापारी जीएसटी दरों को 5 फीसदी से बढ़ाकर 12 फीसदी करने का विरोध कर रहे हैं। उनकी मांग जायज है।"  "केंद्र सरकार को जागना चाहिए और अपंग मुद्रास्फीति पर ध्यान देना चाहिए, वे इस तरह गरीबों के घावों पर नमक नहीं डाल सकते हैं," उन्होंने कहा, "छोटे व्यापारियों की कंपनियां मर जाएंगी यदि कपड़ों पर कर बढ़ा दिया गया है।" जीएसटी परिषद, देश के जीएसटी कार्यान्वयन के सभी पहलुओं को विनियमित और निर्देशित करने वाली एक शासी निकाय, ने हाल ही में उल्टे शुल्क संरचनाओं और अन्य विसंगतियों को दूर करने के लिए जीएसटी दर में संशोधन के प्रस्ताव जारी किए। इसमें कपड़ा उद्योग में दर परिवर्तन शामिल है जो 1 जनवरी, 2022 से प्रभावी होगा।

वर्तमान में, 1,000 रुपये प्रति पीस तक की बिक्री पर 5 प्रतिशत कर लगाया जाता है, लेकिन जीएसटी परिषद की कपड़ा दरों को 5 प्रतिशत से बढ़ाकर 12 प्रतिशत करने की सिफारिश से बड़ी संख्या में छोटे कपड़ा डीलरों के साथ-साथ ग्राहक भी प्रभावित होंगे। 

शरीर के इस हिस्से पर असर डालता है ओमिक्रॉन, ये लोग रहे सावधान

सेंचुरियन में भारत की पहली टेस्ट जीत, 113 रनों से साउथ अफ्रीका को दी मात

इन 2 बैंकों में निकली बंपर नौकरियां, ये लोग कर सकते है आवेदन

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -