कल है श्रावण मास की कालाष्टमी, ऐसे करें पूजन

Jul 23 2019 09:20 PM
कल है श्रावण मास की कालाष्टमी, ऐसे करें पूजन

सावन के महीने में भगवान शिव के भैरव रूप की पूजा भी करते हैं लेकिन यह कालाष्टमी के दिन की जाती है। ऐसे में कहा जाता है कि हर महीने कृष्ण पक्ष अष्टमी तिथि को कालाष्टमी मनाते हैं और भगवान शिव के भैरव रूप की पूजा कर इस दिन व्रत रखते हैं. ऐसे में इस व्रत को बहुत ही फलदायी माना जाता है। वहीं इस दिन व्रत रखकर विधि-विधान से काल भैरव की पूजा करने से सारे कष्ट मिट जाते हैं और इस व्रत में भैरवनाथ की षोड्षोपचार सहित पूजा करनी चाहिए और उन्हें अर्घ्य समर्पित करना चाहिए।

इसी के साथ इस दिन रात्रि के समय जागरण कर भगवान शिव एवं माता पार्वती की कथा का श्रवण करना चाहिए और भैरव कथा का श्रवण और मनन करना चाहिए। कहा जाता है इस दिन मध्य रात्रि में शंख, नगाड़ा, घंटा बजाकर भगवान भैरव की आरती करनी चाहिए और भगवान भैरवनाथ को प्रसन्न करने के लिए उनके वाहन श्वान को भोजन कराना चाहिए। वहीं इस व्रत में व्रती को फलाहार ही ग्रहण करना चाहिए और कहा जाता है यह व्रत बहुत ही फलदायी माना जाता है।

इसी के साथ कालाष्टमी व्रत रखने वाला हर परेशानी से दूर रहता है और इस दिन व्रत रखने वाले साधक को पूरा दिन ॐ कालभैरवाय नम: का जाप करना लाभदायक हो सकता है. वहीं ऐसा भी कहते हैं कि शुद्ध मन से इस व्रत का पालन करने से हर कार्य में सफलता प्राप्त हो जाता है.

क्या आप जानते हैं भगवान शिव के रुद्र एकादश नाम का अर्थ

सावन के हर सोमवार को करें श्री शिवमङ्गलाष्टकम् का जाप

पर्स में रखे इतनी इलायची, एक हफ्ते में बन जाएंगे लखपति