एक्टिंग छोड़ ढाबे पर काम करने लगा था ये मशहूर एक्टर, रोहित शेट्टी के कारण चमक गई किस्मत

बॉलीवुड फिल्मों के जाने माने मशहूर अभिनेता संजय मिश्रा आज अपना जन्मदिन मना रहे है। बहुमुखी प्रतिभा के धनी संजय मिश्रा आज के नामी अभिनेता तथा कॉमेडियन हैं मगर एक समय ऐसा भी था जब वो अभिनय छोड़-छाड़कर ऋषिकेश चले गए थे तथा एक ढाबे पर काम करने लगे। 

ये वो समय था जब उनके पिता का निधन हुआ। संजय मिश्रा अपने पिता के बहुत नजदीक थे। पिता की मौत ने संजय मिश्रा को ऐसा झकझोरा कि वो गुमशुदा हो गए तथा अकेला महसूस करने लगे। उनका कहीं मन नहीं लग रहा था। उनका मन वापस मुंबई जाने का भी नहीं हुआ और अभिनय छोड़ दिया। काम छोड़कर संजय मिश्रा और अकेले पड़ गए। वो अकेलापन उन्हें खाए जा रहा था तथा एक दिन अचानक ही संजय मिश्रा ने घर छोड़ दिया और ऋषिकेश चले गए। वहां संजय मिश्रा एक ढाबे पर काम करने लगे। संजय सौ से भी अधिक फिल्मों में काम कर चुके थे मगर इतनी फिल्मों के बाद भी उन्हें वो कामयाबी नहीं मिली जिसके वो हकदार थे। शायद इसी कारण ढाबे पर संजय मिश्रा को किसी ने पहचाना भी नहीं। दिन गुजरते गए तथा संजय मिश्रा का समय ढाबे पर सब्जी बनाने, आमलेट बनाने में कटने लगा।

संजय मिश्रा अपनी पूरी जिंदगी उस ढाबे पर ही काम करने में निकाल देते यदि रोहित शेट्टी ना होते। रोहित शेट्टी एवं संजय मिश्रा फिल्म 'गोलमाल' में साथ काम कर चुके थे। वो अपनी अगली फिल्म 'ऑल द बेस्ट' पर काम कर रहे थे तथा उसी के चलते उन्हें संजय मिश्रा का ख्याल आया। संजय मिश्रा फिल्मों लौटने को तैयार नहीं थे, मगर रोहित शेट्टी ने उन्हें मनाया तथा फिल्म में साइन किया। इसके बाद तो फिर संजय मिश्रा ने पलटकर नहीं देखा। संजय मिश्रा के पास फिल्मों की बौछार होने लगी तथा उन्होंने कई हिट फिल्में दीं। संजय मिश्रा ने 'फंस गए रे ओबामा', ' मिस टनकपुर हाजिर हो', 'प्रेम रतन धन पायो', 'मेरठिया गैंगस्टर्स' तथा 'दम लगाके हायेशा' जैसी कई हिट फिल्में कीं तथा अपनी अलग पहचान बनाई। आज हर कोई संजय मिश्रा का फैन है तथा उनके अभिनय का कायल भी है।

 

 

 

न्यूज ट्रैक वीडियो

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -