Share:
सलीमा टेटे का बड़ा बयान, कहा-
सलीमा टेटे का बड़ा बयान, कहा- "लकड़ा, प्रधान मेरी प्रेरणा हैं..."

इंडियन वुमन हॉकी टीम की युवा खिलाड़ी सलीमा टेटे ने खुलासा भी कर दिया है कि टीम की पूर्व कप्तान असुंता लकड़ा और निक्की प्रधान ने उनके करियर में मार्गदर्शक का रोल भी प्ले कर चुकी है। झारखंड की रहने वाली सलीमा ने कहा है कि उन्हीं के राज्य से आने वाली असुंता और निक्की को देखकर उन्हें भी हॉकी में नई ऊंचाइयां हासिल करने का प्रोत्साहन मिला। सलीमा ने बोला है कि  मैंने जूनियर राष्ट्रीय टीम से हॉकी में प्रवेश किया, और असुंता लकड़ा मेरी प्रेरणा थीं। मैं उनके जैसी बनना चाह रही थी। जब मैंने उन्हें खेलते हुए देखा तो मुझे महसूस हुआ कि यदि यह कर सकती हैं, तो मैं भी कर सकती हूं। निक्की प्रधान भी मेरे विकास में महत्वपूर्ण रही हैं। उन्होंने मुझे हमेशा पर्याप्त वक़्त दे दिया है। 
 
सलीमा ने अपनी बात को जारी रखते हुए बोला है कि मेरा परिवार भी बेहद सहयोगी रहा है। वे परेेशानियों के बारे में नहीं सोचते। उनका यही कहना है  है कि अगर हम अपने आप को सर्वश्रेष्ठ बनाना चाह रहे है, तो हमें हर परेशानी के बावजूद अच्छा प्रदर्शन करना जरुरी है। यूरोपीय दौरे पर लंबा वक़्त बिताने के उपरांत भारत वापस आईं सलीमा ने कहा कि बर्मिंघम 2022 खेलों से पहले टीम का ध्यान सिर्फ इस बात पर था कि उन्हें ‘कुछ न कुछ करना है।

सलीमा ने बोला है कि FIH महिला हॉकी वर्ल्ड कप स्पेन और नीदरलैंड 2022 में जब हमारा वक़्त खराब गया तो टीम का लक्ष्य साफ था। हम बर्मिंघम 2022 राष्ट्रमंडल खेलों में अच्छा प्रदर्शन करना चाह रहे थे। हमारे पास कोई और विकल्प नहीं था। हमें इंडिया वापस लौटने से पहले एक पदक जीतना था। हमारी सोच यही थी कि कुछ न कुछ करना ही पड़ेगा। सलीमा के करियर का अब तक का सबसे बड़ा पल टोक्यो ओलिम्पिक था, जहां इंडिया चौथे स्थान पर रहा था। सलीमा का बोलना है कि टोक्यो ओलिम्पिक के बाद से उनके गांव की तरफ लोगों का ध्यान आकर्षित हुआ है, जिससे क्षेत्र की हालत सुधरी है।

सलीमा ने बोला है कि टोक्यो ओलिम्पिक से पहले किसी को भी हमारे गांव के बारे में नहीं पता था और जब मैं वापस आई तो मेरे गांव की तरफ ध्यान बहुत बढ़ गया था। लोग दूर-दूर से यहां आते हैं। लोग मेरे गांव को भी जानते है। यह दिल को बहुत खुशी देता है। मेेरे परिवार को भी यह देखकर खुशी होती है कि लोग हमसे मिलने के लिए आ रहे है। पूरा माहौल बदल गया है जिससे मुझे बहुत खुशी है। उन्होंने आगे बोला है कि इंडिया के लिए खेलने से मेरा जीवन बदल गया है। इसने मुझे वो सब दिया है जो मैं मांग सकती थी। मैं देश के लिए प्रदर्शन करते हुए और मैच जिताना चाहती हूं।

यहाँ मिला मंकीपॉक्स का सबसे खतरनाक केस, काला घाव बनकर सड़ रही मरीज की नाक

NBA इतिहास के सबसे महंगे खिलाड़ी में शामिल हुए जेम्स

एफटीएक्स क्रिप्टो कप शतरंज में प्रग्गानंधा ने की धमाकेदार शुरुआत

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -