विदेश में नौकरी नहीं आसान ! बीते 3 वर्षों में 2750 भारतीय गंवा चुके हैं जान

विदेश में नौकरी नहीं आसान ! बीते 3 वर्षों में 2750 भारतीय गंवा चुके हैं जान
Share:

नई दिल्ली: संसद का मानसून सत्र जारी है, इस दौरान लोकसभा में एक सवाल का जवाब देते हुए केंद्रीय विदेश मंत्री एस जयशंकर ने यह बताया है कि बीते 3 वर्षों में दुनिया के विभिन्न देशों में रोजगार के लिए गए 2570 लोगों की मौत अलग-अलग कारणों से हुई है। हालांकि इन 2570 मौत के मामलों में से 2478 मामलों को सम्बंधित देशों की पुलिस और जांच एजेंसियों की सहायता से सुलझा लिया गया है। 

उत्तर प्रदेश के फूलपुर से भाजपा सांसद केशरी देवी पटेल द्वारा पूछे गए सवाल का जवाब देते हुए एस जयशंकर ने यह भी बताया कि सरकार ने विदेशों में हो रही मौत या किसी भी शिकायत के निवारण के लिए एक बहुभाषी 24X7 हेल्पलाइन और ऑनलाइन तंत्र समेत कई कदम उठाए हैं। जब भी किसी भारतीय प्रवासी मजदूर की विदेश में मृत्यु होती है, तो संबंधित भारतीय मिशन/पोस्ट तत्काल जरूरी मदद प्रदान करता है, जिसमें मृत्यु पंजीकरण, दाह संस्कार/दफन या पार्थिव शरीर को भारत वापस लाने से जुड़ी प्रक्रियाओं को पूरा करना, सेवा की समाप्ति की जांच, सुरक्षा के अलावा जब भी जरूरत हो, स्थानीय अधिकारियों, अदालतों और बीमा एजेंसियों के साथ मृत्यु के बाद मिलने वाले मुआवजे के लिए उचित कार्रवाई शामिल है।

इसके साथ ही ऐसे मामलों में जहां मृतक के परिवार पोस्टमार्टम या पुन: जांच के लिए आग्रह करते हैं, तब भी विदेशों में भारतीय मिशन/केंद्र इन मांगोको लेकर संबंधित विदेशी सरकार के साथ संपर्क करते हैं। अपने लिखित जवाब में विदेश मंत्री एस जयशंकर ने यह भी जानकारी दी है कि विदेशों में स्थापित भारतीय मिशन ने संकट के समय में प्रवासी भारतीय नागरिकों और उनके आश्रितों को मदद प्रदान करने के लिए भारतीय समुदाय कल्याण कोष (ICWF) की स्थापना की है।

प्रशासन की मान-मनौवल के बाद आतंकी यासीन मलिक की भूख हड़ताल ख़त्म, अब मांगों पर होगा विचार

केरल: IAS अधिकारी की नियुक्ति के खिलाफ हज़ारों मुस्लिम सड़कों पर, जानिए क्या है मामला ?

20 राज्यों के शहीदों के परिवारों को सम्मानित करेगी गोवा सरकार

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -