अमेरिकी लड़ाकू विमान को रूस ने दी पटखनी, छोड़कर भागे इलाका

Aug 13 2020 06:40 PM
अमेरिकी लड़ाकू विमान को रूस ने दी पटखनी, छोड़कर भागे इलाका

रूस ने काला सागर के ऊपर उड़ान भर रहे, अमेरिका के दो टोही हवाई जहाज को अपने फाइटर जेट सुखोई-27 के माध्यम खदेड़ दिया. मीडिया रिपोर्ट के अनुसार ने रूसी रक्षा मंत्रालय के हवाले से बताया है कि यह घटना कल 12 अगस्त को हुई. अमेरिकी टोही विमानों के लौट जाने के बाद रूसी जेट भी अपने ठिकाने पर वापस चला आया था. इस घटना से दोनों मुल्को के मध्य तनाव पैदा होने की गुंजा​इश है.

Nubra Valley में एक बार जो घूम ले वो उसकी सुंदरता का हो जाएगा दीवाना

रूस के रक्षा मंत्रालय के जवेज्दा ब्रॉडकास्टिंग सर्विस ने बताया कि 12 अगस्त को रूसी हवाई क्षेत्र कण्ट्रोल प्रणालियों ने काला सागर के तटवर्ती जल इलाकों में रूसी सीमा के नजदीक आ रहे दो विमानों का पता लगाया. इसके पश्चात रूस के दक्षिणी सैन्य जिले के एक एसयू-27 फाइटर जेट को इन टोही विमानों को रोकने के लिए भेजा गया. रूस के Su-27 विमान ने उड़ान भरी और अमेरिका विमानों को वापस खदेड़ा. बाद में Su-27 फाइटर विमान सुरक्षित वापस लौट आया.

इंडोनेशिया : ज्वालामुखी में हुआ जबरदस्त धमाका, 2 किलोमीटर तक उड़ी राख

बता दे कि रूसी फाइटर जेट के चालक ग्रुप ने अमेरिकी वायु सेना के रणनीतिक टोही विमान आरसी-135 और अमेरिकी नौसेना के गश्ती विमान पी-8ओ पोजीडन की पहचान की. मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, बीते कुछ सप्ताह में रूस के लड़ाकू विमानों ने काले सागर के ऊपर अमेरिकी टोही विमानों को कई बार रोका है. इससे क्षेत्र में एक नया तनाव पैदा हुआ है. विदित हो कि हाल ही में अमेरिका ने जर्मनी में तैनात अपने सैनिकों की संख्या में से एक तिहाई कम करने का फैसला किया था. जर्मनी में तैनात कुल 36 हजार अमेरिकी सैनिकों में से 12 हजार को वापस बुलाने का ट्रंप ने फैसला किया है. इसके अलावा मीडिया ने अपनी रिपोर्ट में बताया था, कि रूस की चुनौती के मद्देनजर इनमें से छह हजार को यूरोप के ही किसी सैनिक ठिकाने पर तैनात किया जाएगा. इस कवायद से भी जाहिर है, कि रूस और अमेरिका के संबंध खास नहीं हैं.  

कोरोना के चलते दो बड़े स्पोटर्स इवेंट हुए रद्द

US राष्ट्रपति चुनाव: कमला हैरिस के उम्मीदवार बनते ही बरसा धन, 24 घंटों में मिला 2 अरब का चंदा

किम जोंग उन और ट्रंप की मुलाकात का सच आया बाहर