इन 5 कामों को करने से टूट जाता है रोजा

आप सभी जानते ही होंगे इस बार 25 अप्रैल, शनिवार से मुस्लिम धर्मावलंबियों का पवित्र महीना रमजान शुरू हो चुका है. ऐसे में हिजरी कैलेंडर का यह नौवा महीना है और पूरी दुनिया में फैले इस्लाम धर्म के लिए रमज़ान का पवित्र महीना एक उत्सव होता है. इस महीने में कई चीज़ों की, कई बातों की मनाही होती है. ऐसे में रमज़ान के महीने में किए गए हर नेक काम का पुण्य यानी सवाब 70 गुना मिलता है. कहा जाता है 70 गुना अरबी में मुहावरा है, जिसका मतलब होता है बेशुमार इस कारण प्रत्येक मुस्लिम इस पाक महीने में ज्यादा से ज्यादा नेक काम करते हैं.

आप सभी को बता दें कि ज़कात (अपनी कमाई का कुछ हिस्सा दान के रूप में देना) इसी महीने में अदा की जाती है. वहीं अगर कोई व्यक्ति अपने माल की ज़कात इस महीने में निकालता है तो उसको 1 रुपये की जगह 70 रुपये अल्लाह की राह में देने का पुण्य मिलता है, इसीलिए मुसलमान इस महीने में ज़कात अदा करते हैं. इसी के साथ रमजान के पाक महीने में रोजे भी रखे जाते हैं. जी दरअसल रोजा हमें झूठ, हिंसा, बुराई, रिश्वत तथा अन्य तमाम गलत कामों से बचने की प्रेरणा देता है. और इसकी मश्क यानी (अभ्यास) पूरे एक महीना कराया जाता है ताकि इंसान पूरे साल तमाम बुराइयों से बचें और इंसान से हमदर्दी का भाव रखा जाए. ऐसे में आज हम आपको बताने जा रहे हैं किन 5 कामों को करने से टूट जाता है रोजा.

इन 5 कामों से टूट जाता है रोजा
1. झूठ बोलना
2. बदनामी करना
3. किसी के पीछे उसकी बुराई करना
4. झूठी कसम खाना
5. पांचवीं लालच करना.

रमजान: यहाँ जानिए खजूर का खास महत्व और खाने के बेहतरीन फायदे

रमजान ही नहीं हर दिन खा सकते हैं खजूर, होते हैं यह चौकाने वाले फायदे

रमजान के महीने में बोले पीएम मोदी, मन की बात में बोली दिल की बात

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -