राज कुंद्रा मामले में क्राइम ब्रांच के हाथ लगा बड़ा सबूत, सामने आई ये सच्चाई

Jul 22 2021 02:37 PM
राज कुंद्रा मामले में क्राइम ब्रांच के हाथ लगा बड़ा सबूत, सामने आई ये सच्चाई

हाल ही में मुंबई क्राइम ब्रांच ने बुधवार को एक बड़ा खुलासा किया कि राज कुंद्रा व्हाट्सएप ग्रुप्स के जरिए अपना एडल्ट फिल्म बिजनेस चलाते थे। अच्छी तरह से स्थापित व्हाट्सएप ग्रुप्स का नाम एचएस-अकाउंट, एचएस-ऑपरेशन और एचएस-टेक डाउन था और वह तीन समूहों के एडमिन थे जो कि एडल्ट फिल्मों की शूटिंग के सुचारू संचालन और ऐप के लिए इसके वितरण को सुनिश्चित करने के लिए बनाए गए थे। आप कि पहले समूह, एचएस-अकाउंट, कुंद्रा में सामग्री, ग्राहकों, भुगतान और लेनदेन से संबंधित सभी मामलों पर चर्चा की। 

दूसरे समूह में, एचएस-ऑपरेशन, वयस्क फिल्मों की सामग्री के साथ-साथ शूट की रसद की योजना बनाई गई थी। इस समूह में, कुंद्रा और उनके सहयोगियों ने संपादित वीडियो क्लिप के लिंक भी यूके प्रोडक्शन हाउस को स्थानांतरित करने के लिए भेजे। तीसरे ग्रुप में कॉपीराइट और पायरेसी से जुड़े तमाम मामलों पर चर्चा हुई। रिपोर्ट में कहा गया है कि यदि कोई अन्य वेबसाइट कोई हॉटशॉट्स सामग्री लेती है, तो ऐसे मुद्दों पर व्हाट्सएप ग्रुप में चर्चा की जाएगी और टीम कानूनी नोटिस भी भेजती थी। 

वही इसके लिए हॉटशॉट्स कंटेंट को पायरेसी से बचाने के लिए राज कुंद्रा की एक टीम थी। अपराध शाखा के एक अधिकारी ने खुलासा किया कि तालाबंदी के दौरान उनका व्यवसाय बड़े पैमाने पर फला-फूला और कहा, जांच से पता चला है कि कुंद्रा व्हाट्सएप समूहों के माध्यम से भी काम संभालते थे। महत्वपूर्ण तथ्य यह है कि वह इन तीनों समूहों का व्यवस्थापक और संचालन प्रमुख था। कुछ दिनों पहले अपराध शाखा ने कुंद्रा के कार्यालय पर छापा मारा और एक सर्वर जब्त किया जिसमें कम से कम 70 वीडियो बरामद हुए हैं। 

सिद्धार्थ मल्होत्रा ने शेयर किया 'शेरशाह' का नया पोस्टर, जबरदस्त अंदाज में आए नजर

गिरफ्तारी से बचने के लिए राज कुंद्रा ने क्राइम ब्रांच के अधिकारियों को दी थी 25 लाख रुपये रिश्वत

संजय दत्त ने अनोखे अंदाज में किया पत्नी मान्यता को बर्थडे विश, कही ये बड़ी बात