मन की बात में बोले पीएम मोदी, स्वतंत्रता सेनानियों में सबसे आगे थे भारत के आदिवासी

नई दिल्ली: पीएम मोदी आज अपने रेडियो कार्यक्रम 'मन की बात' के 49वें संस्करण में देशवासियों को सम्बोधित कर रहे हैं. कार्यक्रम की शुरुआत उन्होंने लौह पुरुष सरदार वल्लभ भाई पटेल को याद करते हुए की, उन्होंने कहा कि 31 अक्टूबर को सरदार पटेल की जयंती है, इस अवसर पर उनकी प्रतिमा स्टैच्यू ऑफ यूनिटी देश की तरफ से उन्हें सच्ची श्रद्धांजलि होगी, इस दिन पूरा देश एकता के लिए दौड़ेगा. उन्होंने कहा कि जब कभी भी विश्व शान्ति की बात होती है तो इसको लेकर भारत का नाम और योगदान स्वर्ण अक्षरों में अंकित दिखेगा. 

एस्सार स्टील को 42000 करोड़ में खरीदा आर्सेलर मित्तल ने

आदिवासियों को सम्बोधित करते हुए उन्होंने कहा कि यह आश्चर्य की बात नहीं है कि हमारे सबसे पहले स्वतंत्र सेनानियों में आदिवासी समुदाय के लोग ही थे, भगवान बिरसा मुंडा को कौन भूल सकता है. आज सारा विश्व पर्यावरण संरक्षण की चर्चा कर रहे हैं और संतुलित जीवनशैली के लिए नए रास्ते ढूंढ रहे हैं, प्रकृति के साथ सामंजस्य बनाकर के रहना हमारे आदिवासी समुदायों की संस्कृति में शामिल रहा है, हमारे आदिवासी भाई-बहन पेड़-पौधों और फूलों की पूजा देवी-देवताओं की तरह करते हैं. 

3 दिन बाद एसबीआई बदलने वाला है यह नियम,ग्राहकों पर पड़ेगा यह असर

उल्लेखनीय है कि अखिल भारतीय रेडियो और दूरदर्शन पर प्रधान मंत्री का भाषण लाइव प्रसारण किया जा रहा है. प्रधान मंत्री कार्यालय, सूचना और प्रसारण मंत्रालय और allindiaradio.gov.in के यूट्यूब चैनल भी भाषण को प्रसारित कर रहे हैं. आपको बता दें कि अपने पिछले संबोधन में, प्रधान मंत्री ने विश्व शांति के मुद्दे पर जोर दिया था और कहा था कि भारत इसके लिए प्रतिबद्ध है और इसे प्रोत्साहित करने के लिए सब कुछ करेगा, लेकिन देश के आत्म-सम्मान और संप्रभुता की लागत पर नहीं. 

खबरें और भी:-

इंद्रा नूई: दुनिया की सबसे ताकतवर महिलाओं में से एक के बारे में 10 बातें जो आप नहीं जानते

करवा चौथ पर जमकर खरीदिए सोना, कीमतों में आई भारी कमी

महाराष्ट्र से जमा हुआ सबसे अधिक प्रत्यक्ष कर, दिल्ली दूसरे नंबर पर

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -