भारतीय ओलंपिक संघ ने जारी किये नए नियम

Aug 03 2018 03:51 PM
भारतीय ओलंपिक संघ ने जारी किये नए नियम

नई दिल्ली :  एशियाई खेलों में भाग लेने वाले खिलाड़ियों के लिए भारतीय ओलंपिक संघ (आईओए) ने खेल गांव में ओलंपिक संस्था की 'नीडल मुक्त नीति' का कड़ाई से पालन करने का निर्देश दिया है. इसके साथ ही इस काम की जिम्मेदारी राष्ट्रीय महासंघों को दी गयी है. 

अच्छी औसत के बाद भी पुजारा हुए टीम से बाहर

भारतीय ओलंपिक संघ ने राष्ट्रीय खेल महासंघों के अधिकारियों को कहा है कि वे निश्चित करें कि विशेष बीमारी के लिये दी गयी दवाईयों में प्रतिबंधित पदार्थ शामिल नहीं हो. उन्हें निश्चित किये डाक्टरों से लिखी दवाईयां अपनाने को कहा गया है. आईओए महासचिव राजीव मेहता ने पत्र में लिखा, 'दवाईयों को सीलबंद पारदर्शी कवर में ले जाना चाहिए. 

भारतीय महिला हॉकी टीम आज आयरलैंड से भिड़ेगी

बता दें कि राष्ट्रमंडल खेलों के दौरान  भारतीय एथलीट -पैदल चालधारी केटी इरफान और त्रिकूद एथलीट वी राकेश बाबू- को इसी नियम के उल्लंघन के कारण स्वदेश भेजना पड़ा था जिससे देश की पूरे विश्व में किरकरी हुई थी. इन लोगों के कमरों से नीडल मिली थी. अपने कमरों में नीडल की मौजूदगी का ब्यौरा देने में यह खिलाड़ी असफल रहे थे. बता दें कि राष्ट्रमंडल खेलों के दौरान सिर्फ दो खिलाड़ियों को भारत नहीं लौटाया गया था, बल्कि एक मुक्केबाज के कमरे के बाहर एक नीडल भी पायी गयी थी जिस पर सीजीएफ ने भारत को फटकार लगाई थी.

खबरे और भी...

हॉकी वर्ल्डकप: भारतीय महिला टीम वर्ल्ड कप से बाहर

भारत ऑस्ट्रलिया से टेस्ट सीरीज़ जीत सकता है- हसी

विदेश में एशियन गेम्स के लिए अभ्यास करेंगे सुशील कुमार

?