जब कॉन्डम नहीं थे तब कुछ इस तरह से बनाए जाते थे संबंध

आज के समय में लोग सम्बन्ध बनाते वक्त काफी सावधानी रखते है, अनचाहे गर्भ से बचने के लिए आज के समय में कंडोम है. ऐसे में पहले के समय की बात की जाए तो पहले संबंध बनाने के लिए कंडोम्स नहीं होते थे . ऐसे में पहले के समय में क्या होता था वो हम आपको बताते हैं. जी दरअसल में पहले के समय में कंडोम्स नहीं होते थे इसके लिए लोग सम्बन्ध बनाने के लिए बचते थे. कई बार तो लोग अनचाहे गर्भ से बचने के लिए विदड्राअल या पुल आउट मैथेड को अपनाते थे जिसका मतलब होता था इजेक्युलेशन से पहले ही हट जाना. पहले के समय में लोग अनचाहे गर्भ से बचने के लिए यही तरीका अपनाते थे इसी वजह से दस में से केवल चार महिलाएं ऐसी होती थी जो प्रेग्नेंट होती थी.

ऐसा भी कहा जाता है कि पहले के समय में लोग भेड़ की आंत से एक तरह का कॉन्डम बनाते थे जिसमे छेद होता था जिससे रिसाव हो सके लेकिन उसे उपयोग करने में लोगो को अच्छा लगता था इसी वजह से वह उसे उपयोग करते थे. पहले के समय में महिलाऐं सेक्स के तुरंत बाद अपनी योनि को धो लेती थी जिससे की स्पर्म अन्दर ना रह जाए और वह प्रेग्नेंट ना हो. पहले के समय की तो बात ही अलग थी पहले लोग सूती कपड़े से लेकर मगरमच्छ के डंक तक का उपयोग कॉन्डम बनाने के लिए करते थे. पहले लोग संबंध बनाने का समय भी ऐसा चुनते थे जिससे महिलाएं प्रेग्नेंट ना हो.

इन दिनों मार्केट में पॉपुलर हो रही है पीछे से फ़टी हुई जींस

विज्ञान ने भी हिन्दुओं की इन परम्पराओं को माना सटीक और तार्किक

हिन्दू धर्म की इस परंपरा को सुनकर खड़े हो जाएंगे आपके रोंगटे

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -