क्लाइंट संग एक साथ यौन संबंध बनाना चाहते थे 4 Gay, मुंबई में बड़े रैकेट का भंडाफोड़

मुंबई: मुंबई के मालवाणी में पुलिस ने ‘गे सेक्स रैकेट’ का पर्दाफाश करते हुए तीन लोगों को अरेस्ट किया है। आरोपितों की शिनाख्त इरफान, इमरान और अहमद के रूप में हुई है। ये तीनों ऑनलाइन ऐप ‘ग्राइंडर (Grindr)’ का उपयोग कर इस रैकेट को चला रहे थे। इन लोगों ने जिन्हें क्लाइंट सूची में शामिल किया था, उनमें कई एलिट लोग भी शामिल हैं। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, पुलिस ने आरोपितों को पकड़ने के बाद बताया कि इनके नाम 26 वर्षीय इरफान फुरकान खान, 24 वर्षीय अहमद फारूक शेख और 24 वर्षीय इमरान शफीक शेख हैं। दो अन्य आरोपित भी हैं, मगर अभी वो फरार चल रहे हैं। 

इन सभी पर आरोप है कि ये सब ऑनलाइन ऐप के माध्यम से समलैंगिक पुरुषों से संपर्क करते थे और उनसे पैसा लेकर उन्हें सेक्स सुविधा उपलब्ध कराने का वादा करते थे। मामले का खुलासा तब हुआ, जब आरोपितों ने एक कंपनी के 23 साल के अकॉउंटेंट को अपना शिकार बनाया। उससे घंटे के हिसाब से हजार रुपए माँगे गए। जब सबकुछ तय हो गया और अकाउंटेंट दिए गए पते पर पहुँचा तो उसके साथ चार लोगों ने यौन संबंध बनाने की इच्छा जताई, जब युवक ने इसके लिए इंकार किया तो उसे जमकर मारा-पीटा गया,  उसका फोन, पर्स छीनकर धमकी देते हुए, पीड़ित से उसका एटीएम पिन तक ले लिया गया। यही नहीं आरोपितों ने युवक की अश्लील वीडियो भी बना ली और उसे इंटरनेट पर डालने की धमकी दी। बहुत मुश्किल से युवक उन लोगों के चंगुल से छूटकर बाहर निकला। उसने बहाना बनाया कि वो पैसे लेने जा रहा है। मगर वहाँ से निकल कर वह घर पहुँचा और पूरी घटना बताई।

युवक के साथ उसके परिवार वालों को देखते ही आरोपित भाग गए। लेकिन, परिवार ने इस घटना की शिकायत थाने में कर दी और आरोपितों के ख़िलाफ़ मामला दर्ज कराया। मालवाणी थाने में मामला दर्ज होने के बाद पुलिस उपायुक्त विशाल ठाकुर ने इस केस में जाँच के निर्देश दिए। सोमवार की सुबह तक सीनियर इंस्पेक्टर शेखर भालेराव और हसन मुलानी ने अपनी टीम के साथ इन तीनों को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस अधिकारियों ने कहा की, “हमने सभी आरोपितों के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज किया है। गिरफ्तार आरोपितों को सोमवार को बोरीवली मेट्रोपोलिटन मजिस्ट्रेट कोर्ट में पेश किया गया और उन्हें पुलिस कस्टडी में भेज दिया गया।'

आंध्र प्रदेश: कोविड पॉजिटिव होने के बाद युवक ने की आत्महत्या

ओडिशा स्पेशल टास्क फोर्स ने एक जीवित पैंगोलिन को बचाया

न सोना-चांदी और न रुपया-पैसा.., केवल जजों के कपड़े चुराता है ये सिरफिरा चोर

Most Popular

- Sponsored Advert -