फिल्म रिव्यु : फितूर में नहीं दिखा फितूर

फिल्म रिव्यु : फितूर में नहीं दिखा फितूर

आज बॉक्स ऑफिस पर अभिषेक कपूर के निर्देशन में बनी फिल्म फितूर दर्शको पर इश्क का फितूर चलाने आ गई है. अभिषेक की इस फिल्म में आदित्य रॉय कपूर और कैटरीना कैफ लीड रोल में है. और उनका साथ दिया है तब्बू ने. अगर फिल्म फितूर की बात की जाए तो यह अभिषेक कपूर की पिछली फिल्म कई पो छे और रॉक ओन से काफी कमतर है. आपको बता दे कि यह फिल्म चार्ल्स डेकन की नावेल 'द ग्रेट एक्सपेक्टेशन्स ' से प्रेरित है. अगर फिल्म कि कहानी कि बात की जाये तो यह शुरू होती है कश्मीर से जहाँ पर बेगम हजरत (तब्बू) अपने बंगले में रहती है.

बेगम के साथ में विश्वासघात होता है. जिस कारण उनका प्यार से विश्वास उठ जाता है. लेकिन बेगम की बेटी फ़िरदौस (कैटरीना कैफ) को बचपन में ही नूर (आदित्य रॉय कपूर) जैसा एक दोस्त मिल जाता है. जो कश्मीर में अपनी दीदी और जीजा के साथ रहता है. नूर एक आर्टिस्ट है जिसे बचपन में ही फ़िरदौस से प्यार हो जाता है. लेकिन बेगम को नूर का फ़िरदौस से मिलना अच्छा नहीं लगता. फिल्म में तब्बू की युवावस्था का किरदार अदिति राव हैदरी निभाती हुई दिखाई देती है. जो काफी अजीब लगता है. फिर बेगम फ़िरदौस को पढ़ने के लिए लन्दन भेज देती है.

नूर अकेला हो जाता है. और फिर कैसे उसकी लव स्टोरी अनजाम तक पहुचती है. यह सब जानने के लिए आपको फिल्म देखना होगी. अगर बात की जाए फिल्म के स्क्रीनप्ले और कहानी की तो यह पूरी तरह फिल्म से गायब लगती है. फिल्म में अजय देवगन का कैमियो है पर यह काफी अच्छा हो सकता था. फिल्म में तब्बू की अदाकारी काफी बेहतरीन है. फिल्म में चाइल्ड आर्टिस्ट का अभिनय काफी अच्छा है. कैटरीना और आदित्य भी अच्छे लगे है. लेकिन फिल्म की काहनी उतनी दमदार नहीं है. हालंकि फिल्म का संगीत पहले ही हिट हो चूका है. अगर आप भी किसी के प्यार में है और अपने प्यार को ट्रीट देना चाहते है. तो जा सकते है फिल्म देखने वरना आपके पास और भी ऑप्शन है संगीत पसंद है, तो यह फिल्म जरूर देखें.