शरीर के इस अंग पर हो तिल तो जीवन में जमकर भरा होता है रोमांस

Aug 01 2019 07:20 PM
शरीर के इस अंग पर हो तिल तो जीवन में जमकर भरा होता है रोमांस

हम सभी जानते ही हैं कि लोगों के शरीर पर कहीं ना कहीं तिल होता है. ऐसे में स्त्री और पुरुष दोनों के लिए तिल का महत्व अलग-अलग होता है और सभी के शरीर पर होने वाले तिल अलग अलग होते हैं और उनका अलग-अलग महत्व होता है जिसके बारे में हम आपको बताने जा रहे हैं. 

शरीर पर तिल का महत्व: 


* कहते हैं सूर्य पर्वत मतलब अनामिका अंगुली के नीचे के क्षेत्र पर तिल हो तो व्यक्ति समाज में कलंकित होता है और इसी के साथ वह सभी को नुकसान देता है. इसी के साथ नौकरी में पद से हटाया जाना और व्यापार में घाटा होना उसी के कारण होता है. वहीं ऐसे लोगों का मान- सम्मान पर प्रभावित होता है.

* कहा जाता है बुध पर्वत यानी कनिष्ठा अंगुली के नीचे के क्षेत्र पर तिल हो तो व्यक्ति को व्यापार में हानि उठानी पड़ती है और ऐसा व्यक्ति हिसाब-किताब व गणित में धोखा खाता है और दिमागी रूप से कमजोर होता है. 

* कहते हैं कनिष्ठा अंगुली  के नीचे वाला क्षेत्र जो हथेली के अंतिम छोर पर यानी मणिबंध से ऊपर का क्षेत्र जो चंद्र क्षेत्र कहलाता है, इस क्षेत्र पर यदि तिल हो तो ऐसे व्यक्ति के विवाह में देरी होती है और प्रेम में लगातार असफलता मिलती है.

* कहा जाता है गले के पृष्ठ भाग पर तिल होने पर जातक कर्मठ होता है और छाती पर दाहिनी ओर तिल का होना शुभ होता है. कहा जाता है ऐसी स्त्री पूर्ण अनुरागिनी होती है और ऐसे पुरुष भाग्यशाली होते हैं. 

* कहते हैं अगर छाती पर बायीं ओर तिल हो तो भार्या पक्ष की ओर से असहयोग की संभावना बनी रहती है और छाती के मध्य का तिल सुखी जीवन दर्शाता है. इसी के साथ यदि किसी स्त्री के हृदय पर तिल हो तो वह सौभाग्यवती होती है.

* कहते हैं यदि किसी व्यक्ति की कमर पर तिल होता है तो उस व्यक्ति की जिंदगी सदा परेशानियों से घिरी रहती है और अगर पीठ पर तिल हो तो जातक भौतिकवादी, महत्वाकांक्षी एवं रोमांटिक हो सकता है.

* कहा जाता है जिन लोगों के पेट पर तिल हो तो व्यक्ति चटोरा होता है और ऐसा व्यक्ति भोजन का शौकीन व मिष्ठान्न प्रेमी होता है. वहीं अगर दाहिने घुटने पर तिल हो तो गृहस्थ जीवन सुखमय और बायें पर होने से दांपत्य जीवन दुखमय होता है.


* कहते हैं पैरों पर तिल हो तो जीवन में भटकाव रहता है और ऐसा व्यक्ति यात्राओं का शौकीन होता है. इसी के साथ दाएं पांव की एड़ी अथवा अंगूठे पर तिल होने का एक शुभ फल यह माना जाता है कि व्यक्ति विदेश यात्रा करेगा, वहीं अगर तिल अगर बायें पांव में हो तो ऐसे व्यक्ति बिना उद्देश्य जहां-तहां भटकते रह जाते हैं.

जिस पुरुष की छाती पर है बहुत बाल उसे जरूर पढ़नी चाहिए यह खबर

इस विधि से करें गायत्री मंत्र का जाप, हर काम होगा सफल

लड़कियों के लिए बेहद उपयोगी है फेंगशुई की ये एक चीज़, आज ही लाये घर